लाइव टीवी

DMK नेता की चेतावनी, पाठ्यक्रम में हिन्दी शामिल की गई तो करेंगे प्रदर्शन

News18Hindi
Updated: June 1, 2019, 7:14 PM IST
DMK नेता की चेतावनी, पाठ्यक्रम में हिन्दी शामिल की गई तो करेंगे प्रदर्शन
टी-शिवा

नई शिक्षा नीति पर असंतोष व्यक्त करते हुए डी शिवा ने कहा कि ऐसी नीति को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा, "यहां के लोगों पर हिन्दी थोपने से रोकने के लिए हम किसी भी परिणाम का सामना करने के लिए तैयार हैं."

  • Share this:
डीएमके नेता और राज्यसभा सांसद टी शिवा ने नई शिक्षा नीति के मसौदे के तहत केंद्र की तीन-भाषा प्रणाली के खिलाफ विरोध प्रदर्शन की चेतावनी दी है. शुक्रवार को नई शिक्षा नीति का मसौदा जारी किया गया. इसमें कहा गया है कि गैर-हिन्दी भाषी राज्यों में क्षेत्रीय भाषा, अंग्रेजी और हिन्दी को पाठ्यक्रम में शामिल किया जाएगा. इस नीति ने तमिलनाडु के नेताओं को नाराज कर दिया है.

नई शिक्षा नीति पर असंतोष व्यक्त करते हुए डी शिवा ने कहा कि ऐसी नीति को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा, "यहां के लोगों पर हिन्दी थोपने से रोकने के लिए हम किसी भी परिणाम का सामना करने के लिए तैयार हैं."

टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार उन्होंने कहा, "तमिलनाडु में हिंदी लागू करना सल्फर गोदाम में आग फेंकने जैसा है. अगर वे फिर से हिन्दी सीखने पर जोर देते हैं तो छात्र और युवा इसे किसी भी कीमत पर रोक देंगे. 1965 से हिंदी विरोधी आंदोलन इसका स्पष्ट उदाहरण है. डीएमके द्वारा किए गए हिन्दी विरोधी आंदोलन की चिंगारी तमिलनाडु में अब भी मौजूद है."

शिवा ने दावा किया कि हिन्दी को अनिवार्य बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि अन्य राज्यों की भाषाएं, विशेष रूप से दक्षिणी राज्यों की, हिंदी भाषी राज्यों में पढ़ाए जाएंगी. डीएमके नेता ने कहा कि पार्टी किसी भी कीमत पर हिन्दी थोपने की कोशिश को रोकेगी.

बता दें कि अभिनेता से नेता बने कमल हासने ने भी कहा है कि हिन्दी को थोपा नहीं जाना चाहिए.

ये भी पढ़ें: नई शिक्षा नीति का ड्राफ्ट तैयार, 5+3+3+4 फॉर्मूले पर होगी पढ़ाई

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 1, 2019, 7:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर