कर्नाटक में JDS-कांग्रेस को राहत! 1 और विधायक ने कहा- सरकार के पक्ष में दूंगा वोट

कांग्रेस विधायक रामलिंगा रेड्डी ने कहा कि 'मैं कल विधानसभा सत्र में हिस्सा लूंगा और पार्टी के पक्ष में मतदान करूंगा.

News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 2:09 AM IST
कर्नाटक में JDS-कांग्रेस को राहत! 1 और विधायक ने कहा- सरकार के पक्ष में दूंगा वोट
रेड्डी ने कहा कि 'मैं कल विधानसभा सत्र में हिस्सा लूंगा और पार्टी के पक्ष में मतदान करूंगा.
News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 2:09 AM IST
कर्नाटक में गठबंधन सरकार के लिए कुछ राहत नजर आ रही है. गुरुवार को विश्वास मत से पहले कांग्रेस विधायक रामलिंगा रेड्डी ने कहा कि उन्होंने विधानसभा से अपना इस्तीफा वापस लेने का फैसला किया है. बुधवार को रेड्डी ने कहा कि  मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी द्वारा प्रस्तावित विश्वास मत के पक्ष में मतदान करेंगे.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार रेड्डी ने कहा कि 'मैं कल विधानसभा सत्र में हिस्सा लूंगा और पार्टी के पक्ष में मतदान करूंगा. मैं पार्टी में बना रहूंगा और विधायक रहूंगा.'

रेड्डी, एक पूर्व मंत्री, 13 कांग्रेस और तीन जेडीएस विधायकों में से हैं, जिन्होंने इस्तीफा दे दिया है. दूसरी ओर दो निर्दलीय विधायकों ने 14 महीने की कुमारस्वामी सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया है,
जिसके चलते सरकार संकट में है.

यह भी पढ़ें:  आज गिर सकता है कर्नाटक की राजनीति के 'नाटक' का पर्दा

इस विधायक ने भी कहा था - दूंगा साथ

इससे पहले कांग्रेस के बागी विधायक एमटीबी नागराज ने पार्टी में रहने का फैसला किया था. नागराज ने शनिवार सुबह पार्टी नेता डीके शिवकुमार से मिलने के बाद अपने इस्तीफे पर पुनर्विचार करने का संकेत दिया था. उन्होंने कहा सुधाकर (राव) और मैंने विधायक पद से अपना इस्तीफा दे दिया था.
Loading...

नागराज  कहा- 'सुबह से ही सभी नेता मुझे कांग्रेस में बने रहने के लिए कह रहे हैं. मैंने पार्टी में बने रहने का फैसला किया है. हम (चिक्काबल्लापुर विधायक) सुधाकर (राव) को भी समझाने की कोशिश करेंगे और हम दोनों अपना इस्तीफा वापस ले लेंगे.'

नागराज सरकार में हाउसिंग मिनिस्टर हैं. मंत्रिमंडल में फेरबदल और विस्तार होने पर उन्हें 22 दिसंबर 2018 को मंत्री बनाया गया था. नागराज की यह टिप्पणी मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी और राज्य कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) नेता सिद्धारमैया के साथ बैठक के बाद आई थी.

यह भी पढ़ें:  SC के फैसले से कुमारस्वामी को राहत या BJP की हुई चांदी?

गुरुवार को विश्वास मत का सामना

बता दें गुरुवार को सरकार, सदन में विश्वात मत का सामना करेगी. ऐसे में उसके बचे रहने के लिए संख्या बल का रहना जरूरी है.कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार ने बागी विधायकों के इस्तीफे को अब तक स्वीकार नहीं किया है.

अगर वह ऐसा करते हैं तो गठबंधन के 118 सदस्यों की संख्या 100 से नीचे आ जाएगी और बहुमत का आंकड़ा 113 से घटकर 105 हो जाएगा. बीजेपी के पास 105 सदस्य हैं और दो निर्दलीय उम्मीदवारों का समर्थन है, जिससे उनकी संख्या 107 तक पहुंच जाती है.

यह भी पढ़ें: कर्नाटक: BJP विधायकों संग क्रिकेट खेलते नजर आए येदियुरप्पा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Karnataka से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 18, 2019, 2:09 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...