होम /न्यूज /राष्ट्र /

VIDEO: 4 KM के दायरे में परिंदा भी नहीं मार सकेगा पर, लाल किले की निगरानी कर रहा DRDO का यह 'बाज'

VIDEO: 4 KM के दायरे में परिंदा भी नहीं मार सकेगा पर, लाल किले की निगरानी कर रहा DRDO का यह 'बाज'

दिल्ली पुलिस ने 75वें स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम के सिलसिले में लाल किले को छावनी में तब्दील कर दिया गया है. (ANI Photo)

दिल्ली पुलिस ने 75वें स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम के सिलसिले में लाल किले को छावनी में तब्दील कर दिया गया है. (ANI Photo)

स्वतंत्रता दिवस समारोह के मद्देनजर लाल किले के प्रवेश द्वार पर बहुस्तरीय सुरक्षा घेरा बनाए जाने के अलावा चेहरे की पहचान प्रणाली (Face Recognition System) वाले कैमरे लगाए गए हैं. डीआरडीओ द्वारा विकसित काउंटर-ड्रोन सिस्टम (Counter-Drone System) को किसी भी संभावित खतरे से निपटने के लिए लाल किला क्षेत्र के पास तैनात किया गया है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्लीः भारत इस बार 15 अगस्त को अपनी आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनाने जा रहा है. इसके लिए राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करेंगे. इस मौके पर करीब 7000 लोग लाल किले सामने बने दर्शक दीर्घा में उपस्थित रहेंगे.

स्वतंत्रता दिवस समारोह के मद्देनजर लाल किले के प्रवेश द्वार पर बहुस्तरीय सुरक्षा घेरा बनाए जाने के अलावा चेहरे की पहचान प्रणाली (Face Recognition System) वाले कैमरे लगाए गए हैं. डीआरडीओ द्वारा विकसित काउंटर-ड्रोन सिस्टम (Counter-Drone System) को किसी भी संभावित खतरे से निपटने के लिए लाल किला क्षेत्र के पास तैनात किया गया है. यह काउंटर-ड्रोन सिस्टम लगभग 4 किमी के दायरे में किसी भी आकार के ड्रोन का पता लगा सकता है और उन्हें निष्क्रिय कर सकता है.


दिल्ली पुलिस के अनुसार, लाल किले पर स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में लगभग 7000 मेहमान शिरकत करेंगे. सोमवार को स्मारक के आसपास 10,000 से अधिक पुलिस कर्मियों को तैनात किया जाएगा. दिल्ली पुलिस ने ड्रोन व यूएवी आदि से किसी संभावित खतरे का मुकाबला करने के लिए लाल किला क्षेत्र में छतों और अन्य संवेदनशील स्थानों पर 400 से अधिक पतंग या उड़ने वाली किसी भी वस्तु को पकड़ने वाले लोगों को तैनात किया है.

तिरंगा फहराए जाने तक लाल किले के आसपास के 5 किलोमीटर का क्षेत्र ‘नो फ्लाइंग जोन’ के रूप में चिह्नित किया गया है. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि लाल किला परिसर में खाना, पानी की बोतलें, रिमोट से नियंत्रित कार की चाबियां, धूम्रपान का लाइटर, बक्से, हैंडबैग, कैमरा, दूरबीन, छाता और इसी तरह की वस्तुएं लेने जाने की अनुमति नहीं होगी.

विशेष पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) दीपेंद्र पाठक के मुताबिक, दिल्ली में धारा-144 के प्रावधान पहले ही लागू कर दिए गए हैं. 13 अगस्त से 15 अगस्त शाम तक लाल किला या उसके आसपास पतंग, गुब्बारे या चीनी लालटेन उड़ाते हुए पकड़े गए व्यक्ति को दंडित किया जाएगा. इसके अलावा, उत्तर, मध्य और नई दिल्ली जिला इकाइयों में हवा में उड़ने वाली वस्तुओं पर निगरानी रखने के लिए लगभग 1000 उच्च विशिष्टता वाले कैमरे लगाए गए हैं. उन्होंने कहा कि ये कैमरे राष्ट्रीय स्मारक तक जाने वाले वीवीआईपी मार्ग की निगरानी में भी मदद करेंगे.

Tags: 75th Independence Day, Azadi Ka Amrit Mahotsav, Red Fort

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर