कोरोना से मौत के बाद मरीज की डेडबॉडी रिश्तेदारों ने मस्जिद में ले जाकर धुलवाई, मचा बवाल

स्थानीय प्रशासन ने खबर मिलने के बाद कार्रवाई की है. (सांकेतिक तस्वीर)

स्थानीय प्रशासन ने खबर मिलने के बाद कार्रवाई की है. (सांकेतिक तस्वीर)

केरल के थ्रिसूर जिले (Thrissur) में एक कोरोना संक्रमित की मौत हो जाने के बाद रिश्तेदारों ने अंतिम संस्कार प्रक्रिया के तहत डेडबॉडी मस्जिद में ले जाकर धुलवा दी. खबर की जानकारी मिलते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया. स्वास्थ्य विभाग इस पर कार्रवाई कर रहा है.

  • Share this:

थ्रिसूर. देश में इस वक्त कोरोना वायरस की दूसरी लहर (2nd Wave Of Covid-19) ने तबाही मचाई हुई है लेकिन लोगों की लोगों की लापरवाही अब भी जारी है. केरल के थ्रिसूर जिले (Thrissur) में ऐसा ही एक मामला सामने आया है. दरअसल एक कोरोना संक्रमित (Covid Infected) की मौत हो जाने के बाद रिश्तेदारों ने अंतिम संस्कार प्रक्रिया के तहत डेडबॉडी मस्जिद में ले जाकर धुलवा दी. खबर की जानकारी मिलते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया. स्वास्थ्य विभाग इस पर कार्रवाई कर रहा है.

मातृभूमि की एक रिपोर्ट के मुताबिक अस्पताल ने खदीजा नाम की मृतक की डेडबॉडी रिश्तेदारों को सौंप दी थी. बॉडी को कोरोना प्रोटोकॉल के तहत पूरे इंतजाम के साथ दिया गया था. लेकिन रिश्तेदार डेडबॉडी लेकर मस्जिद पहुंच गए और वहां उसे धुलवा दिया. स्थानीय जिला प्रशासन ने इस मामले में रिश्तेदारों के खिलाफ कार्रवाई की है. हेल्थ डिपार्टमेंट ने उस एंबुलेंस को सीज कर दिया है जिसमें डेडबॉडी ले जाई गई थी.

Youtube Video

कोरोना गाइडलाइंस का उल्लंघन है मृतक की डेडबॉडी छूना
कोरोना गाइडलाइंस के मुताबिक मृतक के शरीर को रिश्तेदारों को छूना, धुलना, गले लगाना प्रतिबंधित है. बता दें केरल में इस वक्त कोरोना के नए मामलों में बहुत तेजी आई है. इसी क्रम में राज्‍य के मुख्‍यमंत्री पिनराई विजयन ने इसे लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है. इसमें उन्‍होंने कहा है कि केरल अब दूसरे राज्यों को और अधिक ऑक्‍सीजन नहीं दे सकता. क्‍योंकि राज्‍य पहले ही अपना बफर स्‍टॉक पड़ोसी राज्‍यों को दे चुका है. अब केरल के पास सिर्फ 86 मीट्रिक टन ही ऑक्‍सीजन का बफर स्‍टॉक है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज