बाढ़ पीड़ित सांगली जिले में हेलीकॉप्टर के जरिए गिराई जाएगी राहत सामग्री

महाराष्ट्र में सांगली जिले के बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत सामग्री गिराने के लिए एक हेलीकॉप्टर तैनात किया जाएगा और इसका प्रयोग फंसे लोगों को बाहर निकालने के लिए भी किया जा सकता है.

News18Hindi
Updated: August 9, 2019, 6:10 PM IST
बाढ़ पीड़ित सांगली जिले में हेलीकॉप्टर के जरिए गिराई जाएगी राहत सामग्री
महाराष्ट्र में सांगली जिले के बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत सामग्री
News18Hindi
Updated: August 9, 2019, 6:10 PM IST
महाराष्ट्र में सांगली जिले के बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत सामग्री गिराने के लिए एक हेलीकॉप्टर तैनात किया जाएगा और इसका प्रयोग फंसे लोगों को बाहर निकालने के लिए भी किया जा सकता है.
सांगली जिला कलेक्टर अभिजीत चौधरी ने शुक्रवार को बताया कि जिले में शहरी एवं ग्रामीण इलाकों में बचाव कार्य जारी हैं.

उन्होंने कहा कि हमें एक हेलीकॉप्टर मिला है, अब प्रभावित इलाकों में राहत सामग्री गिराने का कार्य आरंभ किया जाएगा.  हेलीकॉप्टर का प्रयोग बाढ़ पीड़ित इलाकों से लोगों को बाहर निकालने के लिए भी किया जा सकता है.

अधिकारियों ने बताया कि पश्चिमी महाराष्ट्र के पांच जिलों सांगली, पुणे, कोल्हापुर, सोलापुर और सतारा में आई बाढ़ के कारण बृहस्पतिवार तक दो लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया. इनमें सांगली और कोल्हापुर जिले बाढ़ से सर्वाधिक प्रभावित हुए हैं.

ये भी पढ़ें : कश्‍मीर में हालात बेहतर, मस्जिदों में नमाज की मिली अनुमति

सांगली जिले में भारतीय नौसेना के 12 बचाव दलों को तैनात किया जा रहा है.

एक रक्षा प्रवक्ता ने शुक्रवार को एक बयान में बताया कि सांगली और निकटवर्ती कोल्हापुर से विमान के जरिए लोगों को बाहर निकालने की प्रक्रिया खराब मौसम के कारण बाधित हो गई जिसके बाद राज्य परिवहन वाहनों के जरिए बृहस्पतिवार रात बचाव दल सांगली के लिए रवाना हुए.
Loading...

प्रवक्ता ने कहा कोल्हापुर में पहले की मौजूद टीमों के अलावा नौसेना के इन 12 दलों को आज (शुक्रवार को) सांगली में तैनात किया जाएगा.

ये भी पढ़ें : जाने क्या है आतंकवादी घोषित करने वाला विधेयक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 9, 2019, 6:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...