कर-नाटक: रिजॉर्ट में बीतेगा JDS, कांग्रेस और बीजेपी के विधायकों का वीकेंड, फैसला 16 को

सत्तारूढ़ JDS-कांग्रेस गठबंधन अपने 13 विधायकों के विधानसभा से इस्तीफा देने के बाद 13 महीने पुरानी सरकार को बचाने के लिए लड़ रहा है.

News18Hindi
Updated: July 13, 2019, 3:34 PM IST
कर-नाटक: रिजॉर्ट में बीतेगा JDS, कांग्रेस और बीजेपी के विधायकों का वीकेंड, फैसला 16 को
सत्तारूढ़ JDS-कांग्रेस गठबंधन 13 महीने पुरानी सरकार को बचाने के लिए लड़ रहा है.
News18Hindi
Updated: July 13, 2019, 3:34 PM IST
कर्नाटक की राजनीति के लिए शुक्रवार का दिन भी खास रहा. एक ओर जहां सुप्रीम कोर्ट ने यथास्थिति बनाए रखने के लिए निर्देश दिए हैं तो वहीं सीएम एचडी कुमारस्वामी ने भारतीय जनता पार्टी के खेमे में यह कह कर खलबली मचा दी है कि वह सदन में विश्वासमत हासिल करना चाहते हैं. ऐसे में बीजेपी ने अपने विधायकों को रिजॉर्ट में भेज दिया है.

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष के.आर. रमेश कुमार से कहा कि सत्तारूढ़ गठबंधन के 10 बागी विधायकों के इस्तीफों और उनकी अयोग्यता के मसले पर अगले मंगलवार तक कोई भी निर्णय नहीं लिया जाये.



चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई, जस्टिस दीपक गुप्ता और जस्टिस अनिरूद्ध बोस की तीन जजों की बेंच ने सुनवाई के दौरान ‘महत्वपूर्ण मुद्दे उठने’ का जिक्र करते हुये कहा कि वह इस मामले में 16 जुलाई को आगे विचार करेगी. अदालत ने कहा कि जो स्थिति शुक्रवार को है तब तक वही बनाये रखी जानी चाहिए.

बेंच ने आदेश में कहा...

बेंच ने अपने आदेश में विशेष रूप से इस बात का जिक्र किया कि कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष के आर रमेश कुमार इन बागी विधायकों के त्यागपत्र और अयोग्यता के मुद्दे पर कोई निर्णय नहीं लेंगे. वहीं राज्य के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने कहा कि वह सदन में विश्वासमत हासिल करना चाहते हैं. कुमारस्वामी ने कहा कि उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष के. आर. रमेश कुमार से इसके लिये समय तय करने का अनुरोध किया है.

कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी (PTI Photo/Shailendra Bhojak)


विधानसभा के पहले दिन सदन की बैठक में सीएम ने यह बात कही. दूसरी ओर सदन में दिवंगत सदस्यों को श्रद्धांजलि दिये जाने के दौरान मुख्यमंत्री द्वारा यह मुद्दा उठाये जाने पर विपक्षी दल बीजेपी ने इसकी आलोचना की.
Loading...

रिजॉर्ट में बीतेगा विधायकों का वीकेंड

कुमारस्वामी की इस घोषणा के साथ मौजूदा राजनीतिक संकट के बीच राज्य में रिजॉर्ट पॉलिटिक्स में बीजेपी भी शामिल हो गई. कर्नाटक में फिर से तीन प्रमुख राजनीतिक सत्तारूढ़ कांग्रेस और जेडीएस और विपक्षी बीजेपी के विधायक यह वीकेंड रिजॉर्ट में बिताएंगे.

यह भी पढ़ें:  कांग्रेस के लिए इतनी मुश्किल क्यों है अध्यक्ष की तलाश?

कर्नाटक विधानसभा में बीजेपी विधायकों को ले जाने के लिए आई बस. तस्वीर ANI


सूत्रों ने कहा कि जेडीएस ने शहर के बाहरी इलाके में नंदी हिल के शांत वातावरण को चुना है, जबकि उसके साथी कांग्रेस ने यहां एक स्टार होटल का विकल्प चुना है. बीजेपी के विधायक यहां येलहंका के पास एक रिसॉर्ट में हैं. यह एक अल्ट्रा लग्जरी होटल है.

सत्तारूढ़ गठबंधन अपने 13 विधायकों के विधानसभा से इस्तीफा देने के बाद 13 महीने पुरानी सरकार को बचाने के लिए लड़ रहा है. वहीं कई बागी विधायक पिछले शनिवार को अपने इस्तीफे के बाद से मुंबई के एक होटल में ठहरे हुए हैं, कांग्रेस और जेडीएस जाहिर तौर पर अपनी ताकत में किसी भी तरह से बचाने की कोशिश में लगे हुए हैं.

कर्नाटक विधानसभा के अध्यक्ष के.आर. रमेश (PTI Photo/Shailendra Bhojak)


यह भी पढ़ें:  'सरकार गिराने के लिए पैसे और ताकत का इस्तेमाल करती है BJP'
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...