• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • श्रीनगर और बडगाम जिलों में मुहर्रम का जुलूस निकालने से रोकने के लिए पाबंदियां लगाई गईं

श्रीनगर और बडगाम जिलों में मुहर्रम का जुलूस निकालने से रोकने के लिए पाबंदियां लगाई गईं

मुहर्रम के दसवें दिन के मद्देनजर इन क्षेत्रों में कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए पाबंदियां लगायी गयी हैं (फाइल फोटो)

मुहर्रम के दसवें दिन के मद्देनजर इन क्षेत्रों में कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए पाबंदियां लगायी गयी हैं (फाइल फोटो)

अधिकारियों के अनुसार यहां लालचौक (Lal Chowk) और जादीबाल क्षेत्रों में पाबंदियां (restrictions) लगायी गयी हैं, फलस्वरूप इन क्षेत्रों में दुकानें एवं अन्य व्यावसायिक प्रतिष्ठान (Shops and Other Business Establishments) बंद हैं और सड़कों पर सार्वजनिक वाहन (Public Vehicles) नहीं चल रहे हैं.

  • Share this:
    श्रीनगर. कश्मीर (Kashmir) में प्रशासन ने श्रीनगर और बडगाम जिलों (Srinagar and Budgam Districts) के कुछ हिस्सों में लोगों को मुहर्रम का जुलूस (Muharram Procession) निकालने से रोकने के लिए रविवार को पाबंदियां (Restrictions) लगा दीं. अधिकारियों ने बताया कि इस शहर और बडगाम के कुछ हिस्सों में धारा 144 (Section 144) के तहत लोगों की आवाजाही एवं एक जगह इकट्ठा होने पर प्रतिबंध (Restrictions on movement and gathering) लगाया गया है.

    अधिकारियों के अनुसार यहां लालचौक (Lal Chowk) और जादीबाल क्षेत्रों में पाबंदियां (restrictions) लगायी गयी हैं, फलस्वरूप इन क्षेत्रों में दुकानें एवं अन्य व्यावसायिक प्रतिष्ठान (Shops and Other Business Establishments) बंद हैं और सड़कों पर सार्वजनिक वाहन (Public Vehicles) नहीं चल रहे हैं, केवल निजी वाहन (Private Vehicles) नजर आ रहे हैं. अधिकारियों के मुताबिक किसी भी अप्रिय घटना (Unpleasant Event) को रोकने के लिए अन्य क्षेत्रों में भारी संख्या में सुरक्षाबल (Security Forces) तैनात किये गये हैं.

    मुहर्रम के 10वें दिन इन क्षेत्रों में कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए लगाई गईं पाबंदियां
    उनका कहना है कि मुहर्रम के दसवें दिन के मद्देनजर इन क्षेत्रों में कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए पाबंदियां लगायी गयी हैं.

    यह भी पढ़ें: खून को पतला करने वाली सामान्य दवा कोविड के इलाज में जीवनरक्षक साबित हुई

    मुहर्रम के आठवें दिन इन क्षेत्रों में जुलूस गुजरती थीं लेकिन 1990 में आतंकवाद के सिर उठाने के बाद से उस पर रोक लगा दी गयी. प्रशासन का कहना है कि इन कार्यक्रमों का इस्तेमाल अलगाववादी राजनीति के प्रसार में किया गया है. इसलिए इन पाबंदियों को लगाया गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज