Coronavirus: पंजाब में 15 जून तक जारी रहेंगी लॉकडाउन जैसी पाबंदियां, इस शर्त के साथ खुलेंगे ऑफिस

पंजाब सरकार ने, राज्य में आगमन के कोरोना रिपोर्ट की अनिवार्यता को भी समाप्त कर दिया गया है. (File)

पंजाब सरकार ने, राज्य में आगमन के कोरोना रिपोर्ट की अनिवार्यता को भी समाप्त कर दिया गया है. (File)

Punjab Coronavirus Lockdown: कोरोना के मामले की सकारात्मकता घटकर 3.2% और सक्रिय मामलों में भी कमी आने के बाद मुख्यमंत्री ने शादियों और दाह संस्कार में 20 लोगों को इकट्ठा करने की अनुमति दी है.

  • Share this:

चंडीगढ़. मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Chief Minister Captain Amarinder Singh) ने कुछ रियायतों के साथ पंजाब में पाबंदियां 15 जून तक बढ़ाने (Extend the restrictions) का ऐलान किया है. इस निर्णय के मुताबिक दुकानें शाम 6 बजे तक खुली रहेंगी और कार्यालय 50 फीसदी स्टाफ के साथ काम कर सकेंगे. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि यदि मामलों में गिरावट जारी रहती है तो परिणामों के आधार पर आने वाले हफ्तों में और ढील दी जाएगी. उन्होंने कहा कि जिम और रेस्तरां के मालिकों और कर्मचारियों को फिर से खोलने से पहले खुद को टीका (Vaccinated) लगवाना चाहिए.

शनिवार सहित सप्ताह के दिनों में शाम सात बजे से रात का कर्फ्यू लागू रहेगा. जबकि रविवार को नियमित कर्फ्यू जारी रहेगा. कोरोना के मामले की सकारात्मकता घटकर 3.2% और सक्रिय मामलों में भी कमी आने के बाद मुख्यमंत्री ने शादियों और दाह संस्कार में 20 लोगों को इकट्ठा करने की अनुमति दी है. राज्य में आगमन के समय कोरोना रिपोर्ट की अनिवार्यता को भी समाप्त कर दिया गया है.

खेल प्रशिक्षण के लिए राज्य सरकार ने दी अनुमति

भर्ती परीक्षाओं को सोशल डिस्टेंसिंग और अन्य कोविड उपयुक्त मानदंडों के पालन के अधीन आयोजित करने की अनुमति दी जाएगी. हालांकि मुख्यमंत्री ने कहा कि परीक्षाओं के ऑनलाइन मोड को प्राथमिकता दी जानी चाहिए. राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्पर्धाओं के लिए खेल प्रशिक्षण की भी अनुमति दी गई है और खेल और युवा मामलों के विभाग को आवश्यक निर्देश और दिशानिर्देश जारी करने के लिए कहा गया है.
ये भी पढ़ेंः- दीपावली तक 80 करोड़ को मुफ्त अनाज... पीएम मोदी के संबोधन की दस बड़ी बातें


राज्य में ब्लैक फंगस के हालातों पर कही ये बात



ब्लैक फंगस (म्यूकोर्मिकोसिस) के प्रसार का उल्लेख करते हुए, मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में वर्तमान में म्यूकोर्मिकोसिस के 381 मामले हैं, जिनमें से 38 पहले ही ठीक हो चुके हैं और 265 का इलाज चल रहा है. इलाज के लिए दवाओं की पर्याप्त आपूर्ति है, उन्होंने लोगों को आश्वासन दिया कि उनकी सरकार आपूर्ति में वृद्धि जारी रखेगी और यह सुनिश्चित करेगी कि राज्य में किसी भी आवश्यक दवा की कमी न हो.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज