• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • RETIRED IAS ANOOP CHANDRA PANDEY OF UTTAR PRADESH CADRE APPOINTED AS ELECTION COMMISSIONER

यूपी काडर के रिटायर्ड IAS अनूप चंद्र बनाए गए निर्वाचन आयुक्त, सीएम योगी के रह चुके मुख्य सचिव

IAS अनूप चंद्र पांडेय की फाइल फोटो

पूर्व आईएएस अधिकारी अनूप चंद्र पांडेय (IAS officer (retired) Anup Chandra Pandey) ने अगस्त 2019 में सेवानिवृत्ति से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मुख्य सचिव के रूप में भी काम किया था.

  • Share this:
    नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश काडर के पूर्व आईएएस अधिकारी अनूप चंद्र पांडेय (IAS (retired) Anup Chandra Pandey) को मंगलवार को निर्वाचन आयुक्त (Election Commissioner of India) नियुक्त किया गया. कानून मंत्रालय के विधायी विभाग ने कहा कि राष्ट्रपति ने 1984 बैच के सेवानिवृत्त भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के अधिकारी पांडेय को निर्वाचन आयुक्त नियुक्त किया है. वह 2019 में यूपी के मुख्य सचिव पद से रिटायर हुए थे.

    मुख्य निर्वाचन आयुक्त (सीईसी) के रूप में सुनील अरोड़ा का कार्यकाल 12 अप्रैल को पूरा हो गया था. इसके बाद से निर्वाचन आयुक्त का एक पद रिक्त था. सुशील चंद्रा सीईसी हैं, जबकि राजीव कुमार अन्य निर्वाचन आयुक्त हैं.

    अगस्त 2024 में खत्म होगी सेवा
    सरकार ने नोटिफिकेशन जारी करते हुए कहा कि पांडे को उनके पदभार ग्रहण करने की तारीख से चुनाव आयुक्त नियुक्त किया गया है. नोटिफिकेशन में कहा गया है कि - 'संविधान के अनुच्छेद 324 के खंड (2) के पालन के तहत राष्ट्रपति, आईएएस अनूप चंद्र पांडे (सेवानिवृत्त) (यूपी: 1984) को चुनाव आयुक्त के रूप में नियुक्त करते हैं.'

    अगस्त 2019 में सेवानिवृत्ति से पहले पांडे ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मुख्य सचिव और औद्योगिक विकास आयुक्त के रूप में भी काम किया था. उन्होंने मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बीटेक, एमबीए और प्राचीन इतिहास में डॉक्टरेट की हासिल किया है. चुनाव आयोग में पांडे का कार्याकाल तीन साल से थोड़ा कम होगा और वह अगस्त 2024 में सेवानिवृत्त होंगे.

    अब इलेक्शन कमीशन के तीन मुख्य अधिकारी यूपी से
    दिलचस्प बात यह है कि सीईसी सुशील चंद्रा और चुनाव आयुक्त राजीव कुमार दोनों ही यूपी से हैं. चंद्रा  सेवानिवृत्त आईआरएस अधिकारी हैं, जबकि कुमार 1984 बैच के झारखंड कैडर के आईएएस अधिकारी थे. वहीं अब पांडेय भी यूपी कैडेर के अधिकारी हैं, ऐसे में आयोग के तीनों सदस्यों का उत्तर प्रदेश से संबंध है.

    अगर सीनियर इलेक्शन कमिश्नर को सीईसी के रूप में प्रमोशन देने की परंपरा जारी रही तो अगले साल मई में जब मौजूदा मुख्य चुनाव आयुक्त रिटायर होंगे तो कुमार सीईसी बनेंगे और फरवरी 2025 में 65 वर्ष की उम्र होने तक पद पर रहेंगे. वहीं  कुमार से उम्र में बड़े पांडे अगस्त 2024 में 65 वर्ष के होने के बाद चुनाव आयोग में अपना कार्यकाल पूरा करेंगे.  (भाषा इनपुट के साथ)