Assembly Banner 2021

ब्रिटेन के साथ द्विपक्षीय सहयोग संबंधों में प्रगति की समीक्षा की, बातचीत अच्छी रही: एस जयशंकर

विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने बुधवार को ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमिनिक रॉब से बातचीत की

विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने बुधवार को ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमिनिक रॉब से बातचीत की

विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर (S. Jaishankar) ने बुधवार को ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमिनिक रॉब (Dominic Robb) से बातचीत की. डॉ. एस जयशंकर ने कहा, ‘‘हमारे द्विपक्षीय संबंधों में सहयोग की प्रगति की समीक्षा की. क्षेत्रीय विषयों एवं संयुक्त राष्ट्र से जुड़े मुद्दों के बारे में भी चर्चा की.’’

  • Share this:
नई दिल्ली. विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर (S. Jaishankar) ने बुधवार को ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमिनिक रॉब (Dominic Robb) से बातचीत की और दोनों देशों के द्विपक्षीय सहयोग संबंधों में प्रगति की समीक्षा की. जयशंकर ने ट्वीट करके कहा कि ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमिनिक रॉब के साथ बातचीत अच्छी रही.

विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने कहा, ‘‘हमारे द्विपक्षीय संबंधों में सहयोग की प्रगति की समीक्षा की. क्षेत्रीय विषयों एवं संयुक्त राष्ट्र से जुड़े मुद्दों के बारे में भी चर्चा की.’’ गौरतलब है कि भारत ने इसी साल संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य के रूप में कार्यभार संभाला है.

ये भी पढ़ें  सुरक्षित हिंद प्रशांत क्षेत्र के लिए चीन के मुकाबले भारत संग आया मॉरीशस



ये भी पढ़ें  आतंकवाद स्पॉन्सर करने वालों की तुलना पीड़ितों से नहीं हो सकती, इशारों में पाकिस्तान पर बरसे EAM जयशंकर
अमेरिका से पहले ही कर चुके हैं चर्चा
विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने अपने नवनियुक्त अमेरिकी समकक्ष एंटनी ब्लिंकेन (Antony Blinken) के साथ बातचीत की है. इसकी जानकारी देते हुए विदेश मंत्री ने बताया है कि दोनों नेताओं के बीच मंगलवार को लंबी बातचीत के दौरान विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई. इस दौरान क्वाद सहयोग सहित हिंद प्रशांत क्षेत्र पर चर्चा हुई. साथ ही म्यांमार में पैदा हुए हालात पर भी बात हुई. कुछ दिनों पहले अमेरिकी विदेश मंत्री भारत के साथ करने की इच्छा जताई थी. ब्लिंकेन ने कहा था कि भारत और अमेरिका के बीच एक साथ काम करने की मजबूत क्षमता है. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करते हुए कहा था कि वो नवीकरणीय ऊर्जा और तकनीक के बड़े समर्थक हैं. सिनेट फॉरेन रिलेशन कमेटी के सामने अपने नामांकन की पुष्टि के दौरान ब्लिंकेन ने कहा था कि भारत के साथ सफल द्विपक्षीय रिश्ते अमेरिका के सफल प्रशासन की कहानी बयान करता है.

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने की चीनी समकक्ष से बात
विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) ने गुरुवार को चीन के विदेश मंत्री वांग यी (Wang Yi) के साथ पूर्वी लद्दाख सीमा गतिरोध पर मास्को समझौते के क्रियान्वयन और सैनिकों की वापसी की स्थिति की समीक्षा की. दोनों के बीच फोन पर करीब 1 घंटा, 15 मिनट तक बातचीत हुई. इस दौरान दोनों देशों के बीच हॉटलाइन भी स्‍थापित करने पर सहमति बनी है. शांघाई सहयोग संगठन (एससीओ) सम्मेलन से इतर पिछले वर्ष 10 सितंबर को मास्को में हुई बैठक में जयशंकर और वांग यी ने पांच बिंदुओं पर सहमति व्यक्त की थी. इसमें वास्तविक नियंत्रण रेखा पर शांति बहाल करने, सैनिकों के तेजी से पीछे हटने, तनाव बढ़ाने वाले किसी कदम से बचने और सीमा प्रबंधन पर प्रोटोकाल का पालन जैसे कदम शामिल हैं. जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘आज दोपहर को चीन के स्टेट काउंसलर और विदेश मंत्री वांग यी से बात की. मास्को समझौते को लागू करने पर चर्चा की और सैनिकों की वापसी की स्थिति की समीक्षा की.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज