• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • अंतरिक्ष जाने वाले पहले अरबपति बनेंगे सर रिचर्ड ब्रैनसन, जानें भारत से क्या है उनका खास रिश्ता

अंतरिक्ष जाने वाले पहले अरबपति बनेंगे सर रिचर्ड ब्रैनसन, जानें भारत से क्या है उनका खास रिश्ता

चालक दल के सदस्यों के साथ यान में प्रवेश करते हुए रिचर्ड ब्रैनसन. (रॉयटर्स)

चालक दल के सदस्यों के साथ यान में प्रवेश करते हुए रिचर्ड ब्रैनसन. (रॉयटर्स)

Richard Branson Indian Connection: ब्रैनसन ने कहा था, 'हर बार जब मैं किसी भारतीय से मिलता हूं, तो मैं कहता हूं कि हो सकता है हम रिश्तेदार हों.'

  • Share this:

    नई दिल्ली. ब्रिटिश उद्योग जगत के प्रभावशाली व्यक्तियों में शुमार सर रिचर्ड ब्रैनसन बाहरी अंतरिक्ष में जाने वाले पहले अरबपति बनकर इतिहास रचने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि भारत से भी उनका एक खास रिश्ता है. वर्जिन ग्रुप के संस्थापक ने खुलासा किया था कि कैसे उनके कुछ पूर्वजों के माध्यम से भारत के साथ उनके कुछ पुराने, लेकिन निश्चित संबंध थे. ब्रैनसन की अंतरिक्ष के लिए उड़ान भारत में चर्चा का विषय है, लेकिन अरबपति की भारतीय विरासत से जुड़ाव ने लोगों के लिए इसमें एक अतिरिक्त दिलचस्पी पैदा कर दी है.


    दिसंबर 2019 में ब्रैनसन ने मुंबई से लंदन के लिए वर्जिन अटलांटिक की उड़ान के शुभारंभ के दौरान एक प्रेस कार्यक्रम में भारत के साथ अपने संबंधों के बारे में बताया था. उन्होंने संवाददाताओं से कहा था कि एक डीएनए परीक्षण से पता चला है कि उनके कुछ पूर्वज भारतीय मूल के थे और तमिलनाडु के कुड्डालोर के रहने वाले थे और 1793 में वापस आ गए थे. ब्रैनसन ने खुलासा किया था कि उनकी महान, महान, परदादी आरिया एक भारतीय थीं और दक्षिणी राज्य से थीं.


    अपनी अंतरिक्ष यात्रा को लेकर बेहद उत्साहित हैं भारतीय मूल की सिरिषा, कहा- सम्मानित महसूस कर रही हूं


    ब्रैनसन ने कहा था, 'मुझे पता था कि भारत में मेरी पिछली पीढ़ियां रह रही हैं, लेकिन यह नहीं पता था कि हमारे संबंध कितने मजबूत थे. तो, यह पता चला कि 1793 से, कुड्डालोर में हमारी चार पीढ़ियाँ रह रही थीं और मेरी एक महान, महान, परदादी आरिया नाम की एक भारतीय थीं, जिनकी शादी मेरे एक महान, महान, परदादा से हुई थी.' ब्रैनसन ने कहा था, 'हर बार जब मैं किसी भारतीय से मिलता हूं, तो मैं कहता हूं कि हो सकता है हम रिश्तेदार हों.'


    AI का उपयोग कर जापानी खगोलविदों ने खोजा ब्रह्माण्ड का सही आकार जानने का तरीका


    ब्रैनसन का यान न्यू मैक्सिको के स्पेसपोर्ट अमेरिका से लॉन्च होगा और पूरी प्रक्रिया को वर्जिन गेलेक्टिक के ट्विटर फीड पर भारतीय समय के अनुसार शाम 06:30 बजे से लाइव-स्ट्रीम किया जाएगा. इस पूरी यात्रा के लगभग 90 मिनट तक चलने की उम्मीद है. स्पेसक्राफ्ट लगभग 15 किलोमीटर या 50,000 फीट तक यूनिटी को ले जाकर वहां इसे छोड़ देगा. इसके बाद, वाहन के पिछले हिस्से में एक रॉकेट मोटर शुरू होगी और उसे ऊपर की ओर धकेल देगी. इसके बाद कुछ मिनटों के लिए, ब्रैनसन, उनके तीन चालक दल के साथी और दो पायलट ऊपर से पृथ्वी का एक शानदार दृश्य देखेंगे और भारहीन भी महसूस करेंगे.




    विमान एक ऊंचाई जो कि कार्मन लाइन से थोड़ा नीचे होने की उम्मीद है, को छूने के बाद वापस बेस पर वापस आ जाएगा. कार्मन लाइन एक ऐसी रेखा है जो पृथ्वी के वायुमंडल को अंतरिक्ष से अलग करती है. कार्मन रेखा पृथ्वी के औसत समुद्र तल से 100 किमी ऊपर है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज