फेसबुक विवाद में संसद की कमेटी में बवाल, महुआ मोइत्रा ने किया थरूर का समर्थन

फेसबुक विवाद में संसद की कमेटी में बवाल, महुआ मोइत्रा ने किया थरूर का समर्थन
टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा

कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने लेख के हवाले से बीजेपी (BJP) पर बड़ा हमला बोला है और कहा है कि बीजेपी और आरएसएस ने फेसबुक (Facebook) और व्हॉट्सअप (WhatsApp) पर कब्जा कर लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 18, 2020, 8:36 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल (Wall Street Journal) में फेसबुक (Facebook) को लेकर एक रिपोर्ट प्रकाशित होने के बाद से भारत की राजनीति में बवाल मच गया है. कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने लेख के हवाले से बीजेपी (BJP) पर बड़ा हमला बोला है और कहा है कि बीजेपी और आरएसएस ने फेसबुक और वॉट्सऐप पर कब्जा कर लिया है. विवाद को देखते हुए सूचना प्रौद्योगिकी (IT) मामलों की संसदीय स्थायी समिति की अध्यक्षता करने वाले कांग्रेस नेता शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने फेसबुक से जवाब मांगा है, जिस पर बीजेपी ने नाराजगी जताई है. बीजेपी के सदस्यों ने आरोप लगाया है कि थरूर ने बिना किसी चर्चा के बैठक का एजेंडा भी तय कर लिया है जो सही नहीं है. अब इस पूरे विवाद के बीच तृणमूल कांग्रेस सांसद मुहआ मोइत्रा ने शशि थरूर का समर्थन किया है.

शशि थरूर के इस तर फेसबुक से जबाव मांगने पर एनडीए के सदस्यों ने आरोप लगाया है कि शशि थरूर ने ​बिना किसी से चर्चा किए है बैठक का एजेंडा तैयार कर लिया. एनडीए के सदस्यों ने आरोप लगाया है कि शशि थरूर बैठक के एजेंडे को सोशल प्लेटफॉर्म पर पोस्ट कर रहे हैं. इसके साथ ही उन्होंने दावा किया कि थरूर समिति में कांग्रेस का एजेंडा शामिल करने की कोशिश कर रहे हैं.


कांग्रेस और बीजेपी के बीच चल रहे विवाद के बीच अब तृणमूल कांग्रेस सांसद मुहआ मोइत्रा ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक लेटर शेयर करते हुए लिखा, मैं आईटी कमेटी की सदस्य हूं. इस साल की शुरुआत में ही एजेंडा आइटम को लेकर सहमति बन गई थी. ऐसे में अब कौन से विषय पर कब चर्चा होगी और किसे बुलाया जाएगा ये चेयमैन का विशेषाधिकार है. आश्चर्य है कि बीजेपी कैसे फेसबुक के इंटरेसट के लिए उछल कूछ कर रही है.



इसे भी पढ़ें :- फेसबुक और हेट स्पीच: एक रिपोर्ट पर मचा राजनीतिक बवाल, जानिए 5 प्रमुख बातें

गौरतलब है कि शशि थरूर ने कहा था कि संसदीय समिति, नागरिकों के अधिकारों की सुरक्षा और सामाजिक/ऑनलाइन न्यूज मीडिया प्लेटफार्मों के दुरुपयोग को रोकने के तहत बयान पर विचार करेगी. शशि थरूर के ट्वीट पर बीजेपी नेता निशिकांत दुबे ने आरोप लगाते हुए कहा कि स्थायी समिति के चेयरमैन के पास अपने सदस्यों के साथ एजेंडे पर चर्चा करने के अलावा कोई अधिकार नहीं है. ये मुद्दे समिति के नियमों के मुताबिक ही उठाए जा सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज