लाइव टीवी

Rift on Rafale: राहुल गांधी ने की जेपीसी से जांच कराने की मांग, केंद्र ने ठुकराते हुए कहा - अब सवाल ही नहीं उठता

News18Hindi
Updated: November 15, 2019, 12:43 PM IST
Rift on Rafale: राहुल गांधी ने की जेपीसी से जांच कराने की मांग, केंद्र ने ठुकराते हुए कहा - अब सवाल ही नहीं उठता
संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने राफेल सौदे की जेपीसी जांच की राहुल गांधी की मांग ठुकरा दी है.

संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी (Pralhad Joshi) ने कहा कि राफेल विमान सौदा (Rafale Deal) मामले सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court)फैसला दे चुका है. अब इस मामले की जांच के लिए जेपीसी (JPC) के गठन का सवाल ही नहीं उठता. इससे पहले कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का जिक्र करते हुए ही कहा कि इस निर्णय से ही बड़ी जांच की गुंजाइश पैदा हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 15, 2019, 12:43 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. राफेल विमान सौदे (Rafale Deal) को सुप्रीम कोर्ट की क्‍लीनचिट (Clean Chit) मिलने के बाद भी सियासी वार-पलटवार का दौर खत्‍म नहीं हुआ है. फैसले के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने संयुक्‍त संसदीय समिति (JPC) से सौदे की जांच कराने की मांग की. इस पर संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी (Pralhad Joshi) ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद इस मामले की जेपीसी से जांच कराने का सवाल ही नहीं उठता. उन्‍होंने तंज कसते हुए कहा कि राहुल बचकानी हरकतें करते हैं, लेकिन उन्‍हें इसका सार्वजनिक प्रदर्शन नहीं करना चाहिए.



राहुल गांधी ने कहा, फैसले से ही बड़ी जांच के लिए गुंजाइश पैदा हुई है
इससे पहले राहुल गांधी ने दावा किया कि शीर्ष अदालत (Supreme Court) के निर्णय से ही इस मामले की बड़ी जांच के लिए गुंजाइश पैदा हुई है. ऐसे में जांच के लिए जेपीसी का गठन होना चाहिए. उन्होंने ट्वीट किया कि शीर्ष अदालत के जस्टिस जोसेफ ने फैसले में जो कहा है, उससे राफेल सौदे की जांच के लिए रास्‍ता खुल गया है. ऐसे में इस मामले की पूरी तरह जांच शुरू होनी चाहिए. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने राफेल लड़ाकू विमान सौदा मामले में नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Government) को क्लीनचिट देते हुए कहा कि कोई पुनर्विचार याचिका (Review Petitions) सुनवाई योग्य नहीं हैं. कोर्ट ने अपने 14 दिसंबर, 2018 के फैसले पर पुनर्विचार करने की मांग वाली सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया.


'SC ने कहा - हम मर्यादा में बंधे, अन्‍य एजेंसी के साथ ऐसा नहीं है'
वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने इस मामले पर कहा, 'सुप्रीम कोर्ट का निर्णय साबित करता है कि राफेल सौदे की आपराधिक जांच का रास्ता खुल गया है. बीजेपी (BJP) के लिए यह जश्न का नहीं बल्कि आपराधिक जांच पर आगे बढ़ने का समय है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हमारे हाथ संवैधानिक मर्यादा में बंधे हो सकते हैं, लेकिन अन्य किसी एजेंसी के साथ ऐसा नहीं है.' सुरजेवाला के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट ने फैसले में स्‍पष्‍ट तौर पर कहा है कि आर्टिकल-32 (Article 32) के तहत उनके पास सीमित अधिकार हैं. हमारे अलावा कोई भी स्वतंत्र एजेंसी इस मामले की तफ्तीश कर सकती है.

बीजेपी ने कहा, फैसला राहुल गांधी के हर झूठ का जोरदार जवाब है
बीजेपी प्रवक्‍ता जीवीएल नरसिम्‍हा राव ने राहुल गांधी पर हमला किया आपके बेवजह सिर पीटने से कोई फायदा नहीं होने वाला है. आप अपने व्‍यवहार और टिप्‍पणियों के लिए शर्मसार हो चुके हैं. राफेल विमान मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आपके हर झूठ का जोरदार जवाब है. अब जेपीसी की मांग का कोई फायदा नहीं होगा. आपके झूठ सच नहीं हो जाएंगे.

आपराधिक अवमानना मामले में स्‍वीकार की राहुल गांधी की माफी
सुप्रीम कोर्ट ने आपराधिक अवमानना मामले में राहत देते हुए राहुल गांधी की माफी स्वीकार कर ली है. साथ ही कहा कि राहुल गांधी का बयान दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्‍हें बयान देते समय सावधान रहना चाहिए. राहुल गांधी पर आरोप था कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधने के लिए राफेल डील मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को तोड़-मरोड़ कर पेश किया, जिससे कोर्ट की अवमानना हुई. बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी की ओर से दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है.

ये भी पढ़ें:

SC को राफेल सौदे के खिलाफ पुनर्विचार याचिकाओं में क्‍यों नहीं लगा दम?

अमित शाह ने कहा-राफेल पर फैसले से साबित हुआ, ढोंग था संसद में किया गया हंगामा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 14, 2019, 6:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...