मेहुल चोकसी मामले में नया मोड़, डोमिनिका के पीएम बोले- अधिकारों का होगा सम्मान

मेहुल चोकसी एक भारतीय नागरिक करार देते हुए स्केरिट ने कहा कि चोकसी के खिलाफ अगली कार्रवाई के बारे में कोर्ट फैसला लेगा. फाइल फोटो

मेहुल चोकसी एक भारतीय नागरिक करार देते हुए स्केरिट ने कहा कि चोकसी के खिलाफ अगली कार्रवाई के बारे में कोर्ट फैसला लेगा. फाइल फोटो

Dominica PM on Mehul Choksi: डोमिनिका के पीएम ने कहा, "पूरे मामले में कोई मुद्दा नहीं है. ये मामला भारत और एंटीगुआ के बीच का है. हम अपने समुदाय का हिस्सा हैं, और हमें अपने कर्तव्यों और जिम्मेदारियों का निर्वहन करना है."

  • Share this:

नई दिल्ली. भगोड़े कारोबारी मेहुल चोकसी मामले में नया मोड़ आ गया है. डोमिनिका के प्रधानमंत्री रूजवेल्ट स्केरिट एक बयान जारी कर कहा है कि चोकसी के अधिकारों का सम्मान किया जाएगा और कोर्ट भगोड़े कारोबारी के खिलाफ अगली कार्रवाई के बारे में फैसला लेगा. स्केरिट ने अपने बयान में कहा, "उसके अधिकारों का सम्मान किया जाएगा और मामले में कोर्ट फैसला करेगी कि आगे क्या होगा." उन्होंने कहा कि चोकसी के मामले में किसी भी तरह की कोई बाधा नहीं है, ये मामला भारत और एंटीगुआ का है. डोमिनिका के पीएम ने कहा, "पूरे मामले में कोई मुद्दा नहीं है. ये मामला भारत और एंटीगुआ के बीच का है. हम अपने समुदाय का हिस्सा हैं, और हमें अपने कर्तव्यों और जिम्मेदारियों का निर्वहन करना है."

मेहुल चोकसी एक भारतीय नागरिक करार देते हुए स्केरिट ने कहा कि चोकसी के खिलाफ अगली कार्रवाई के बारे में कोर्ट फैसला लेगा. इसलिए सार्वजनिक बयान देना सही नहीं होगा. भगोड़े कारोबारी मेहुल चोकसी ने अपने वकीलों के माध्यम से एंटीगा एवं बारबुडा की ‘रॉयल पुलिस फोर्स’ से खुद के अपहरण की साजिश की शिकायत की है. इस शिकायत में चोकसी ने अपनी एक साल पुरानी महिला मित्र बारबरा जबरीका पर गंभीर आरोप लगाए हैं.

चोकसी ने कथित महिला मित्र पर लगाए आरोप

चोकसी ने एंटीगा पुलिस को दी गई अपनी शिकायत में कहा है कि एंटीगा पुलिस के 8 से 10 कर्मियों ने उसके साथ बर्बरतापूर्वक मारपीट की. उसे इतना मारा गया था कि वह होश खो बैठा. चोकसी ने वकीलों के माध्यम से दी गई अपनी शिकायत में कहा, "उन्होंने मेरी घड़ी और वॉलेट छीन लिया. बाद में कहा कि वे उसे लूटना नहीं चाहते थे और पैसा वापस कर दिया."
अपनी शिकायत में चोकसी ने कहा, "पिछले एक साल से बारबरा जबरीका के साथ मेरे दोस्ताना संबंध थे. 23 मई को उसने मुझे अपने घर बुलाया. जब मैं वहां गया तो 8 से 10 लोग उसके घर से निकले और मेरे साथ बुरी तरह मारपीट की." भगोड़े कारोबारी ने कहा कि जब मेरे साथ मारपीट की जा रही थी तो जबरीका ने एक बार भी पिटाई करने वालों को रोका नहीं और ना ही मदद के लिए किसी को बुलाया. जिस तरह से जबरीका ने मेरे साथ व्यवहार किया, उससे साफ है कि वह भी मुझे किडनैप करने की साजिश का अहम हिस्सा थी.

चोकसी की शिकायत पर जांच शुरू

बता दें कि एंटीगा एवं बारबुडा की ‘रॉयल पुलिस फोर्स’ ने भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी का कथित तौर पर अपहरण कर उसे डोमिनिका ले जाए जाने के मामले में जांच शुरू कर दी है. चोकसी के वकीलों ने इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई है. ‘एंटीगा न्यूज रूम’ की खबर के अनुसार, एंटीगा एवं बारबुडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने कहा कि चोकसी के वकीलों ने पुलिस आयुक्त को दी गई शिकायत में कथित अपहरण में शामिल लोगों के नाम भी बताए हैं.



प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर ये दावे सच हैं तो फिर यह एक गंभीर मामला है. ब्राउन ने कहा, ‘‘चोकसी ने एंटीगा एवं बारबुडा की रॉयल पुलिस फोर्स में शिकायत दर्ज कराई है कि उसका अपहरण किया गया. उसने अपने वकीलों के माध्यम से एक औपचारिक दावा किया कि उसे एंटीगा से अगवा कर डोमिनिका ले जाया गया. पुलिस इस शिकायत को गंभीरता से ले रही है और अपहरण के मामले की जांच कर रही है.’’

डोमिनिका पहुंचने के टाइम पर विवाद

वहीं ‘एसोसिएट्स टाइम्स’ ने अपनी खबर में डोमिनिका के विपक्षी नेता लेनोक्स लिंटन की उस बात पर शंका जाहिर की कि चोकसी को आर्नी की यॉच कैलीओप में 23 मई को रात 10 बजे डोमिनिका लाया गया था. खबर के अनुसार, चोकसी के परिवार ने दावा किया है कि वह 23 मई शाम पांच बजे तक एंटीगा में थे और चार-पांच घंटे में 120 मील की दूरी तय करना मुमकिन नहीं है, क्योंकि इसमें लगभग 12 से 13 घंटे लगते हैं.

खबर में कहा गया कि सीमा शुल्क दस्तावेज़ के अनुसार, नौका 23 मई को सुबह 10 बजे एंटीगा से रवाना हुई जबकि चोकसी के घरेलू सहायक का कहना है कि वह शाम पांच बजे तक घर पर थे, जिससे स्पष्ट हैं कि लिंटन ने जिस नौका में उसके होने का दावा किया, वह उसमें नहीं थे.

23 मई को एंटीगा एवं बारबुडा से हुआ लापता

‘डोमिनिका चाइना फ्रेंडशिप हॉस्पिटल’ के चिकित्सकों के हवाले से खबर में कहा गया कि जिन नाखून की चोट का वकीलों ने दावा किया है वह पुरानी है, बाकी चोटें नई हो सकती हैं जो ‘‘हल्का धक्का’’ दिए जाने से भी आ सकती हैं. चोकसी इसी अस्पताल में भर्ती है. गौरतलब है कि चोकसी 23 मई को रहस्यमयी परिस्थितियों में एंटीगा एवं बारबुडा से लापता हो गया था. 2018 से बतौर नागरिक वह वहां रह रहा था. लापता होने के बाद में उसे डोमिनिका में अवैध प्रवेश करने पर पकड़ा गया था.

चोकसी के वकीलों ने आरोप लगाया है कि एंटीगुआई और भारतीय जैसे दिखने वाले पुलिसकर्मियों ने उनके मुवक्किल का अपहरण कर लिया तथा उसे नौका के जरिए डोमिनिका पहुंचा दिया. डोमिनिका के एक उच्च न्यायालय में चोकसी की ओर से दायर बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर सुनवाई चल रही है. याचिका में चोकसी ने अपनी कथित अवैध हिरासत को चुनौती दी है. उसे उच्च न्यायालय के आदेश पर एक मजिस्ट्रेट के समक्ष भी पेश किया गया, जहां उसने देश में अवैध प्रवेश के आरोपों को स्वीकार नहीं किया. उसे अभी मामले में जमानत नहीं मिली पाई है.

चोकसी और उसके भतीजे नीरव मोदी पर कुछ बैंक अधिकारियों की मिलीभगत से पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के साथ कथित तौर पर 13,500 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने का आरोप है. नीरव मोदी अभी लंदन की एक जेल में बंद है. दोनों के खिलाफ केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) जांच कर रहा है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज