लाइव टीवी
Elec-widget

रिम्स में जूनियर डॉक्टरों ने किया रोगी के परिजनों से मारपीट के बाद कार्य बहिष्कार

Upendra Kumar | News18 Jharkhand
Updated: April 14, 2018, 9:36 PM IST
रिम्स में जूनियर डॉक्टरों ने किया रोगी के परिजनों से मारपीट के बाद कार्य बहिष्कार
जूनियर डॉक्टर्स के कार्य बहिष्कार के बाद रिम्स के बाहर का दृश्य

रिम्स के इमरजेंसी में जूनियर डॉक्टरों और रोगी के परिजनों के बीच मारपीट की घटना हुई. मारपीट के बाद फिर एक बार जूनियर डॉक्टरों ने कार्य बहिष्कार कर दिया. जूनियर डॉक्टर रिम्स की इमरजेंसी में भर्ती दर्जनों मरीजों को भगवान भरोसे छोड़ गए.

  • Share this:
रिम्स के इमरजेंसी में जूनियर डॉक्टरों और रोगी के परिजनों के बीच मारपीट की घटना हुई. मारपीट के बाद फिर एक बार जूनियर डॉक्टरों ने कार्य बहिष्कार कर दिया. जूनियर डॉक्टर रिम्स की इमरजेंसी में भर्ती दर्जनों मरीजों को भगवान भरोसे छोड़ गए. इमरजेंसी सहित कई जगहों पर डॉक्टर की जगह सिर्फ नर्से हैं . दो महीने के भीतर सुरक्षा की मांग को लेकर दूसरी बार जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल हुई है.

रिम्स की इमरजेंसी में भर्ती एक रोगी के परिजनों और जूनियर डॉक्टरों के बीच मारपीट की घटना के बाद एक बार फिर अस्पताल के बैकबोन कहे जाने वाले जूनियर डॉक्टरों ने रोगियों का इलाज करना छोड़ दिया. रिम्स इमरजेंसी में कई ऐसे मरीज की जान संकट में फंसी है, जो गंभीर अवस्था में वहां लाए गए थे. वहीं आज चार बजे के बाद से दर्जनों रोगियों को बैरंग रिम्स से लौटा दिया गया.

दर्जनों रोगियों का रिम्स से बैरंग वापस लौटाने के पीछे रिम्स में सुरक्षा की कमी को बताते हुए जूनियर डॉक्टरों ने कहा कि उन्होंने कार्य बहिष्कार नहीं किया है बल्कि रोगियों के परिजनों के आक्रामक तेवर के चलते डर से इमरजेंसी सहित कई सेवाओं से अलग हो गए हैं. डॉक्टरों ने दोहराया कि सुरक्षा व्यवस्था बहाल होने ना होने तक वह काम पर नहीं लौटेंगे.

 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 14, 2018, 9:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com