RIP Sushma Swaraj: आज दोपहर 4 बजे राजकीय सम्मान के साथ होगा सुषमा स्वराज का अंतिम संस्कार

पूर्व विदेश मंत्री और बीजेपी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज का मंगलवार रात दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया.

News18Hindi
Updated: August 7, 2019, 5:59 AM IST
RIP Sushma Swaraj: आज दोपहर 4 बजे राजकीय सम्मान के साथ होगा सुषमा स्वराज का अंतिम संस्कार
सुषमा स्वराज
News18Hindi
Updated: August 7, 2019, 5:59 AM IST
पूर्व विदेश मंत्री और बीजेपी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) का मंगलवार रात दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया. वह 67 साल की थीं. वह लंबे समय से बीमार चल रही थीं. सुषमा स्वराज देश की पहली महिला विदेश मंत्री और दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री थीं. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह सहित कई नेताओं ने सुषमा स्वराज के निधन पर अपनी श्रद्धांजलि दी है.

सुषमा स्वराज के पार्थिव शरीर का अंतिम दर्शन करना चाहते हैं तो ये है पूरा कार्यक्रम-
सुबह करीब 11 बजे तक- सुषमा स्वराज के पार्थिव शरीर को जंतर-मंतर रोड पर स्थित उनके निजी आवास धवन द्वीप बिल्डिंग पर रखा गया है. बुधवार की सुबह करीब 11 बजे तक उनका पार्थिव शरीर यहीं रहेगा.

दोपहर 12 बजे- इसके बाद सुषमा स्वराज के अंतिम दर्शन के लिए उनके पार्थिव शरीर को बीजेपी मुख्यालय लाया जाएगा. यहां आम जनता के लिए सुषमा के पार्थिव शरीर को करीब 2.30 बजे तक रखा जाएगा. ताकि लोग उनके अंतिम दर्शन कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित कर सकें.

दोपहर 4 बजे-  पार्थिव शरीर को लोधी रोड स्थित विद्युत शवदाह गृह में अंतिम संस्कार होगा.

7 बार रह चुकी हैं सांसद
सात बार सांसद रहीं सुषमा स्वराज, मोदी सरकार के 2014-2019 तक के कार्यकाल में विदेश मंत्री के पद पर रहीं. विदेशों में रह रहे भारतीयों को जब कभी भी परेशानी हुई तब-तब सुषमा स्‍वराज ने मदद के लिए हाथ बढ़ाया. सुषमा स्वराज का जन्म 14 फरवरी 1952 में अम्बाला में हुआ था. राजनीति में आने से पहले सुषमा स्वराज ने सुप्रीम कोर्ट में अधिवक्ता के पद पर भी काम किया.
Loading...

1998 में दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री बनीं
अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में सुषमा स्वराज को मंत्री बनाया गया था. 1998 में उन्होंने कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया और दिल्ली की पहली महिला सीएम बनीं. इसके बाद हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी को हार का मुंह देखना पड़ा. पार्टी की हार के बाद सुषमा राष्ट्रीय राजनीति में लौट आईं.


2014 से 2019 तक विदेश मंत्री रहीं
सुषमा 2009 और 2014 में विदिशा लोकसभा क्षेत्र से चुनाव जीतकर सांसद बनी. मोदी सरकार के पहले कार्यकाल (2014 से 2019) में वह विदेश मंत्री रहीं. स्वास्थ्य कारणों के चलते उन्होंने 2018 में लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने का निर्णय लिया. 2019 में मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में सुषमा स्वराज की जगह सुब्रमण्यम जयशंकर को विदेश मंत्री बनाया गया.

ये भी पढ़ें-
भारत वापस आने के लिए शख्स ने दी खुदकुशी की धमकी तो सुषमा ने यूं बंधाई हिम्मत

ओमान से लौटी महिला ने सुनाई आपबीती, सुषमा स्वराज को दिया धन्यवाद

NRI ही नहीं विदेशी भी हैं सुषमा के फैन, बस एक ट्वीट पर करती हैं मदद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 7, 2019, 5:22 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...