होम /न्यूज /राष्ट्र /

इन 5 वजहों से ऋषि सुनक हैं ब्रिटिश पीएम के सबसे मजबूत दावेदार, जानें

इन 5 वजहों से ऋषि सुनक हैं ब्रिटिश पीएम के सबसे मजबूत दावेदार, जानें

राजनीति मे दाख़िल होने से पहले उन्होंने इन्वेस्टमेंट बैंक गोल्डमैन सैक्स में काम किया और एक निवेश फ़र्म को भी स्थापित किया.

राजनीति मे दाख़िल होने से पहले उन्होंने इन्वेस्टमेंट बैंक गोल्डमैन सैक्स में काम किया और एक निवेश फ़र्म को भी स्थापित किया.

Rishi Sunak next UK Prime Minister: भारतीय मूल के ऋषि सुनक ब्रिटेन के पीएम बनने के सबसे मजबूत दावेदारों में उभर कर सामने आए हैं. 42 साल के ऋषि सुनक में ऐसे कई गुण हैं जिनके कारण उन्हें ब्रिटेन प्रधानमंत्री के दावेदार के तौर पर सबसे ज्यादा समर्थन मिल रहा है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. दो दिन पहले भारतीय मूल के ब्रिटिश वित्त मंत्री ऋषि सुनक ने प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन में अविश्वास जताते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद ब्रिटेन के मंत्रियों के इस्तीफा देने की सूनामी आ गई. उसके 41 मंत्रियों के इस्तीफे से अंततः ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन को इस्तीफा देना पड़ा. जॉनसन के इस्तीफे के बाद ऋषि सुनक ब्रिटेन के पीएम उम्मीदवार के रूप में सबसे मजबूत दावेदार के रूप में उभरे हैं. कई लोग उन्हें अभी से ब्रिटेन का अगला पीएम मानने लगे हैं. 42 साल के ऋषि सुनक में कई ऐसी खूबियां हैं जिनकी वजह से उन्हें ब्रिटेन का अगला प्रधानमंत्री बनाया जा सकता है. जानिए ऐसे 5 कारण जिनकी वजह से उन्हें ब्रिटेन का अगला पीएम बनाया जा सकता है-

ऋषि सुनक 2015 में पहली बार राजनीति में आए और यॉर्कशर के रिचमंड से सांसद चुने गए. ब्रेग्जिट का समर्थन करने के कारण वे पार्टी में उभरता सितारा बन गया. थेरेसा मे ने उन्हें जूनियर आवास मंत्री बनाया जिसमें उन्होंने बेहतरीन काम किया. पार्टी के बड़े बड़े नेता उनकी तारीफें करने लगी. पार्टी में बहुत कम समय में उनका कद बहुत बड़ा हो गया. बोरिस जॉनसन ने इन्हीं खूबी के कारण उन्हें वित्त मंत्री जैसे महत्वपूर्ण पद की जिम्मेदारी दी.
ब्रिटेन के एक प्रमुख सट्टेबाज ने भी ये भविष्यवाणी की थी कि बोरिस जॉनसन जल्द ही इस्तीफा दे सकते हैं और उनकी जगह ऋषि सुनक नए प्रधानमंत्री बन सकते हैं. कोरोना काल में किए गए बेहतरीन काम के कारण ऋषि सुनक काफी लोकप्रिय हो गए हैं. उन्होंने कामगारों और बिजनेस के लिए अरबों डॉलर को योजनाएं बनाई.
डिशी के निकनाम से मशहूर ऋषि ने हाल ही में पत्नी और दिग्गज बिजनेसमैन एन नारायणमूर्ति की बेटी अक्षता मूर्ति की अकूत संपत्ति के मामले में खुद को बैकफुट से पीछे छुड़ाया है.
ऋषि सुनक बेहद प्रतिभाशाली हैं. उन्होंने ब्रिटेन के विंचेस्टर कॉलेज से राजनीति विज्ञान की पढ़ाई की. इसके बाद ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में फिलोसॉफी और इकॉनोमिक्स की पढ़ाई की. इसके बाद वे अमेरिका के स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में फुलब्राइट स्कॉलर थे, जहां से उन्होंने एमबीए किया था. यानी राजनीति और अर्थशास्त्र में उनकी महारत हासिल है.
ऋषि सुनक को कंज़र्वेटिव पार्टी में स्टार नेता माने जाते हैं. रिचमंड से कंज़र्वेटिव पार्टी के पूर्व नेता लॉर्ड हेग ने सुनक को 'असाधारण व्यक्ति' बताया था. कई बड़े नेता उनकी तारीफ कर चुके हैं.

Tags: Boris Johnson, UK government

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर