लाइव टीवी

आर के माथुर ने लद्दाख के उपराज्यपाल के तौर पर ली शपथ

News18Hindi
Updated: October 31, 2019, 1:03 PM IST
आर के माथुर ने लद्दाख के उपराज्यपाल के तौर पर ली शपथ
पूर्व रक्षा सचिव आर के माथुर केंद्र शासित क्षेत्र लद्दाख के पहले उपराज्यपाल

जम्मू-कश्मीर उच्च न्यायालय (Jammu-Kashmir High Court) की मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल (Gita Mittal) ने लेह के तिसूरू में सिंधु संस्कृति ऑडिटोरियम में एक समारोह में माथुर को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2019, 1:03 PM IST
  • Share this:
लेह. पूर्व रक्षा सचिव आर के माथुर (RK Mathur) ने गुरुवार को केंद्र शासित क्षेत्र लद्दाख के पहले उपराज्यपाल के तौर पर शपथ ली. जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के विभाजन के बाद लद्दाख (ladakh) अलग केंद्र शासित क्षेत्र बना है. जम्मू-कश्मीर उच्च न्यायालय की मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल ने लेह के तिसूरू में सिंधु संस्कृति ऑडिटोरियम में एक समारोह में माथुर को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई.

Radha krishna mathur, ladakh, union territory of ladakh, lieutenant governor, jammu and kashmir news, article 370, RK Mathur, आर के माथुर, लद्दाख के उपराज्यपाल, जम्मू कश्मीर, उच्च न्यायालय, अनुच्छेद 370, गीता मित्तल
नरूला 1989 बैच के आईएएस अधिकारी हैं. इसी के साथ ही, 1995 बैच के आईपीएस अधिकारी एस एस खंडारे को केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख का पुलिस प्रमुख नियुक्त किया गया है.


कार्यक्रम में एक वरिष्ठ अधिकारी ने नियुक्ति वॉरंट पढ़ा, जिसके बाद शपथ ग्रहण समारोह हुआ. माथुर त्रिपुरा से 1977 बैच के आईएएस अधिकारी हैं. उन्होंने बाद में स्थानीय पुलिस के गार्ड ऑफ ऑनर का निरीक्षण किया. उन्होंने आईआईटी से इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग में स्नातकोत्तर किया है. वह वर्ष 2015 में रक्षा सचिव के पद से सेवानिवृत्त हुए थे. उसी वर्ष दिसंबर में उन्हें मुख्य सूचना आयुक्त बनाया गया. पिछले वर्ष 65 वर्ष की आयु होने के साथ ही नवंबर में उनका कार्यकाल भी पूरा हो गया.


Loading...

शपथ ग्रहण से पहले केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पिछले वर्ष दिसंबर माह से अविभाजित जम्मू कश्मीर में लगा राष्ट्रपति शासन हटा दिया था. लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेश के रूप में अस्तित्व में आने से एक दिन पहले बुधवार को केंद्र ने वरिष्ठ आईएएस अधिकारी उमंग नरूला को इस हिमालयी क्षेत्र के नव नियुक्त उप राज्यपाल का सलाहकार नियुक्त किया.

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेश बनने के साथ प्रशासनिक और अन्य विभागीय स्तर पर व्यवस्थाओं में बदलाव आएगा. केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में 106 केंद्रीय कानून सीधे तौर पर लागू हो जाएंगे. लगभग तीन लाख की आबादी वाले लद्दाख की सीमाएं पाकिस्तान और चीन से लगती हैं. इस लिहाज से यह क्षेत्र रणनीतिक रूप से बहुत महत्वपूर्ण है. (भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें : जम्मू-कश्मीर से हटा राष्ट्रपति शासन, अब केंद्र के हाथ में होगी कमान 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 1:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...