छुट्टी पर गए आरके पचौरी, अशोक चावला बने नए अध्यक्ष!

चारों ओर से हमला झेल रहे टेरी के कार्यकारी उपाध्यक्ष आर. के. पचौरी आज से दो अन्य संगठनों टेरी और उसकी प्रशासन परिषद से अवकाश पर चले गए हैं।

भाषा
Updated: February 12, 2016, 9:09 PM IST
छुट्टी पर गए आरके पचौरी, अशोक चावला बने नए अध्यक्ष!
चारों ओर से हमला झेल रहे टेरी के कार्यकारी उपाध्यक्ष आर. के. पचौरी आज से दो अन्य संगठनों टेरी और उसकी प्रशासन परिषद से अवकाश पर चले गए हैं।
News18india.com
भाषा
Updated: February 12, 2016, 9:09 PM IST
नई दिल्लीचारों ओर से हमला झेल रहे टेरी के कार्यकारी उपाध्यक्ष आर. के. पचौरी आज से दो अन्य संगठनों टेरी और उसकी प्रशासन परिषद से अवकाश पर चले गए हैं। जबकि दूसरी ओर स्थिति को संभालने का प्रयास करते हुए परिषद ने प्रतिस्पर्धा आयोग के पूर्व प्रमुख अशोक चावला को नया अध्यक्ष नियुक्त किया है।

बैठक में परिषद ने तय किया कि मामला न्यायालय में लंबित होने के मद्देनजर पचौरी तब तक टेरी, उसकी प्रशासनिक परिषद और विश्वविद्यालय से अवकाश पर रहेंगे, जबतक परिषद द्वारा इसकी फिर से समीक्षा नहीं की जाती।



परिषद की बैठक के बाद टेरी ने एक बयान में कहा कि परिषद ने प्रतिस्पर्धा आयोग के पूर्व प्रमुख अशोक चावला का अपने नए अध्यक्ष के रूप में स्वागत किया। परिषद इस महत्वपूर्ण संस्थान में उनके नेतृत्व को लेकर उत्साहित है। बयान में कहा गया है कि परिषद ने नए महानिदेशक अजय माथुर को परिषद के सदस्य के रूप में शामिल किया जो पूर्ण कार्यकारी अधिकारों के साथ काम करेंगे। संगठन के कामकाज से जुड़े महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा के लिए परिषद् की बैठक हुई।

यह पूछने पर कि क्या पचौरी को अवकाश पर भेजा गया है या उन्होंने स्वयं छुट्टी ली है, टेरी ने इसपर टिप्पणी करने से इनकार करते हुए कहा कि हमारे बयान में हमारा दृष्टिकोण स्पष्ट कर दिया गया है। उसमें कोई निहितार्थ नहीं है। चालीस साल से भी ज्यादा समय तक परिषद के सदस्य रहने के बाद बी. वी. श्रीकांतन द्वारा अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद चावला को नया अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।

इस बीच यौन उत्पीड़न के आरोपों का सामना कर रहे पचौरी को बर्खास्त करने की मांग को लेकर विभिन्न महिला कार्यकर्ताओं ने आज टेरी के कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में शामिल एक महिला ने कहा कि कल एक अन्य महिला ने भी सामने आकर आरोप लगाया कि पचौरी कई लोगों का यौन उत्पीड़न कर चुके हैं। यौन उत्पीड़न के आरोपों को झेल रहे लोगों को बख्रास्त किया जाता है, पदोन्नत नहीं।
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...