रॉबर्ट वाड्रा को इलाज कराने के लिए अमेरिका-नीदरलैंड जाने की मिली इजाजत, लंदन नहीं जा सकेंगे

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा के इलाज कराने के लिए विदेश जाने की इजाजत मिल गई है. लेकिन, वो लंदन नहीं जा सकते हैं.

News18Hindi
Updated: June 3, 2019, 4:08 PM IST
रॉबर्ट वाड्रा को इलाज कराने के लिए अमेरिका-नीदरलैंड जाने की मिली इजाजत, लंदन नहीं जा सकेंगे
रॉबर्ट वाड्रा
News18Hindi
Updated: June 3, 2019, 4:08 PM IST
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा को ट्यूमर के इलाज के लिए विदेश जाने की इजाजत मिल गई है. वाड्रा लंदन में बेनामी संपत्ति के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और सीबीआई की जांच का सामना कर रहे हैं. हाल ही में उन्होंने बड़ी आंत में ट्यूमर की बात बताते हुए इलाज के लिए कोर्ट से लंदन जाने की परमिशन मांगी थी.

दिल्ली की एक अदालत ने इस मामले की सुनवाई करते हुए उनके विदेश जाने पर लगी रोक हटा ली. हालांकि, कोर्ट ने रॉबर्ट वाड्रा को लंदन जाने की इजाजत नहीं दी. कोर्ट के आदेश के मुताबिक, वाड्रा 6 हफ्तों के लिए अमेरिका या नीदरलैंड जा सकते हैं.

वाड्रा को ट्यूमर, कोर्ट ने इलाज के लिए विदेश जाने की नहीं दी इजाजत

बता दें कि दिल्ली की एक अदालत में सुनवाई के दौरान प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने उनकी अर्जी का विरोध करते हुए कहा था कि वो विदेश में जमा कालेधन को ठिकाने लगाने के लिए बहाने बना रहे हैं. उन्हें विदेश जाने की मंजूरी नहीं मिलनी चाहिए. कोर्ट के फैसले को ईडी की अर्जी से जोड़कर देखा जा रहा है.


Loading...



वाड्रा ने कब मांगी थी इजाजत?
मनी लॉन्ड्रिंग मामले में आरोपी रॉबर्ट वाड्रा ने अदालत में दी अर्जी में बताया था कि उनकी बड़ी आंत में ट्यूमर है. उन्हें इसके इलाज के लिए ब्रिटेन और दो अन्य देश जाने की अनुमति दी जाए. वाड्रा के वकील केटीएस तुलसी ने कोर्ट से कहा कि मेडिकल रिपोर्ट के मुताबिक उनकी बड़ी आंत में एक छोटा ट्यूमर है. वो सेकेंड ओपिनियन के लिए लंदन जाना चाहते हैं. ईडी ने वाड्रा की इस याचिका का विरोध करते हुए कहा कि वह देश छोड़कर भाग सकते हैं.

ED ने रॉबर्ट वाड्रा को फिर भेजा समन, लंदन में बेनामी संपत्ति के मामले में होगी पूछताछ

ईडी ने कोर्ट के सामने रखी थी ये दलील
पिछले दिनों ईडी ने कोर्ट में कहा था कि कि वाड्रा के खिलाफ जांच आखिरी मुकाम पर है. उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ करने की जरूरत पड़ेगी. उन पर गंभीर आरोप हैं. उनकी ओर से बताए गए स्वास्थ्य कारण महज बहाना है. वो उन देशों की यात्रा करना चाहते हैं, जहां उन्होंने कालाधन छुपाया है. विदेश जाने की अनुमति पर उनके देश छोड़ने की आशंका है. ऐसे में उन्हें विदेश जाने की अनुमति नहीं दी जाए.

वकील ने कहा, वाड्रा करते है ED से सहयोग
वरिष्ठ वकील केटीएस तुलसी ने कहा कि रॉबर्ट वाड्रा मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच में हमेशा सहयोग करते रहे हैं. वो लंदन में अपनी मां का इलाज करा रहे थे. उसी दौरान उन्हें ईडी की कार्रवाई के बारे में पता चला. वो बिना किसी वारंट या समन के भारत वापस आए और ईडी के सामने पेश हुए. ऐसे में ईडी को उनके भाग जाने के बारे में नहीं सोचना चाहिए.
First published: June 3, 2019, 12:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...