अपना शहर चुनें

States

इस शहर में अब रोबोट साफ करेंगे नाला, कम समय में होगा बेहतर काम

नालों की सफाई करेंगे रोबोट. (File Pic)
नालों की सफाई करेंगे रोबोट. (File Pic)

रिपोर्ट्स के अनुसार शहर की सफाई में इस्‍तेमाल होने वाली इन रोबोटिक मशीनों से नालों में होने वाले ब्‍लॉकेज का पता लगाकर उसे दुरुस्‍त किया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2021, 12:12 PM IST
  • Share this:
विशाखापट्टनम. आंध्र प्रदेश के ग्रेटर विशाखापट्टनम म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (GVMC) अब शहर के नालों की सफाई के लिए अहम कदम की ओर बढ़ रहा है. शहर में अब नालों (Drainage) की सफाई रोबोटिक मशीनों (Robots) से कराने की तैयारी है. इससे सफाईकर्मियों को बड़ी राहत मिलने की बात कही जा रही है. इन रोबोटिक मशीनों का इस्तेमाल तकनीकी रूप से नालों की सफाई और ड्रेनेज सिस्टम को सुचारू रूप से काम करने के लिए किया जाएगा. वहीं बाजार में इन मशीनों की कीमत करीब 80 लाख रुपये बताई जा रही है.

रिपोर्ट्स के अनुसार शहर की सफाई में इस्‍तेमाल होने वाली इन रोबोटिक मशीनों में कैमरा भी लगाया जा रहा है. इन कैमरों के कारण नालों या ड्रेनेज सिस्‍टम में होने वाले ब्‍लॉकेज का पता लगाकर उसे दुरुस्‍त किया जाएगा. इससे सफाईकर्मियों को नालों में उतरकर काम करने की जरूरत नहीं होगी. इन मशीनों से नालों की गहराई भी पता चल सकेगी.

सुपरिटेंडेंट ऑफिसर वेणु गोपाल ने इस संबंध में जानकारी दी है. उन्‍होंने बताया कि सफाईकर्मियों के लिए आधुनिक फीचर्स वाली ये रोबोटिक मशीन बेहद काम साबित होंगी. इससे उन्‍हें काम करने में काफी आसानी होगी और इससे उन्‍हें काम में होने वाले खतरे से दूर रहने में भी मदद मिलेगी.

जानकारी के अनुसार इन रोबोटिक मशीनों को रिमोट के सहारे चलाया जाएगा. यह बहुत आसान तरीका है जो सफाईकर्मियों की मदद करेगा. इन मशीनों के जरिये कम समय में ही बेहतर काम लिया सकेगा. जीवीएमसी का एक मकसद शहर के सभी नालों को एक दूसरे से जोड़ने का भी है. साथ ही शहर के ड्रेनेज सिस्टम को पहले से बेहतर और मजबूत बनाया जाना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज