रोहित शेखर की पत्नी अपूर्वा ने हत्या के 90 मिनट में मिटा दिए थे सुबूत: पुलिस

रोहित शेखर की पत्नी अपूर्वा ने हत्या के 90 मिनट में मिटा दिए थे सुबूत: पुलिस
रोहित शेखर की पत्नी अपूर्वा शुक्ला से पुलिस ने रविवार को 8 घंटे की पूछताछ.

उत्तराखंड के पूर्व सीएम दिवंगत एनडी तिवारी के बेटे की हत्या के मामले में पुलिस ने अपूर्वा शुक्ला और दो नौकरों को हिरासत में लेकर रविवार को 8 घंटे से ज्यादा पूछताछ की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 24, 2019, 6:17 PM IST
  • Share this:
उत्तराखंड और यूपी के पूर्व सीएम दिवंगत एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर की हत्या के मामले में हिरासत में ली गई उनकी पत्नी अपूर्वा शुक्ला को गिरफ्तार कर लिया गया है. शुक्ला को दो नौकरों के साथ रविवार को हिरासत में लिया गया था. शेखर की पत्नी से दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने रविवार को ही आठ घंटे तक पूछताछ की थी.

सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि दिल्ली पुलिस हत्या की गुत्थी सुलझाने के लिए फॉरेंसिक रिपोर्ट का इंतजार कर रही थी. पुलिस के मुताबिक, हत्या में घर के ही किसी व्यक्ति का हाथ है, क्योंकि घर में जबरदस्ती घुसने का कोई सुबूत नहीं मिला है. संदिग्ध हालात में मौत के बाद रोहित की मां ने आरोप लगाया था कि अपूर्वा शुक्ला और उसके परिजन पैसों के लालची थे.

रोहित की मां ने बताया कि अपूर्वा और उसके परिजन उनके परिवार की संपत्ति हड़पना चाहते थे. साथ ही कहा कि दोनों के बीच शादी के पहले दिन से ही झगड़े होने शुरू हो गए थे. मामले में मुख्य गवाह नौकर भोलू मंडल ने बताया था कि जब उसने रोहित को देखा तो उनकी नाक से खून निकल रहा था. रोहित को दक्षिण दिल्ली के साकेत में एक निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.



ये भी पढ़ें: पुलिस और सीबीआई ने ऐसे खोला एनडी तिवारी के बेटे रोहित की मौत का राज़
रोहित की हत्या की गुत्थी उनके कमरे से मिले एक टिशू पेपर से सुलझी. फॉरेंसिक एक्सपर्ट के मुताबिक, हॉर्ट अटैक आने पर नाक से खून नहीं आता. रोहित के मामले में ऑक्सीजन की कमी के कारण कान के ऊपर से जाने वाली नस फट गई. इसीलिए नाक से खून आया. शरीर में ऑक्सीजन की कमी के कारण हथेली और तलवे नीले पड़ गए.

ये भी पढे़ं- रोहित शेखर हत्याकांड: क्या CCTV फुटेज ने खोल दिए पत्नी अपूर्वा के सारे 'राज'?

अब सवाल ये खड़ा हुआ कि इन कड़ियों को जोड़कर आरोपी तक कैसे पहुंचा जाए. रोहित की मौत के बाद उसी रात उनका मोबाइल खोलकर कुछ कॉल की गईं थींं. इसके अलावा पुलिस सीसीटीवी की जांच कर तसल्ली कर चुकी थी कि उस रात बाहर से घर के अंदर कोई नहीं आया था.

इसके बाद सीबीआई की फॉरेंसिक टीम की मदद मिलने पर पुलिस ने फिर रोहित के घर और कमरे की तलाशी ली. कमरे की तलाशी के दौरान पुलिस को खून लगे एक-दो टिशू पेपर मिले. इसी को आधार बनाकर पुलिस ने एक-एक कर रोहित के सौतेले भाई सिद्धार्थ, नौकर और पत्नी अपूर्वा से पूछताछ शुरु कर दी. सूत्रों के मुताबिक, हत्या के 90 मिनट के भीतर ही सुबूत मिटाने की कोशिश की गई. इसके लिए अपूर्वा ने टिशू पेपर से रोहित की नाक से निकलते हुए खून को पोछा था.

यह भी पढ़ें- एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर की संदिग्ध परिस्थिति में मौत, नाक से निकल रहा था खून

ये भी पढ़ें: रोहित शेखर हत्या मामला: फोरेंसिक रिपोर्ट में दावा, नशीली दवा दी और गला दबा दिया

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading