पंजाब: क्या टिकट आवंटन में होता है प्रशांत किशोर का रोल, कांग्रेस नेता ने किए चौंकाने वाले खुलासे

कृष्ण कुमार बावा ने इस किताब में जिक्र किया है कि कैसे 2017 के विधानसभा चुनाव में उनका टिकट कट गया था.

कृष्ण कुमार बावा ने इस किताब में जिक्र किया है कि कैसे 2017 के विधानसभा चुनाव में उनका टिकट कट गया था.

Punjab Politics: कृष्ण कुमार बावा ने इस किताब में जिक्र किया है कि कैसे 2017 के विधानसभा चुनाव में उनका टिकट कट गया था. उन्होंने किताब में लिखा है कि कई ऐसे लोग पैसों के दम पर टिकट हासिल कर लेते हैं, जिनका कांग्रेस (Congress) से कोई सरोकार नहीं होता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 14, 2021, 6:18 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. हाल ही में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने दावा किया है कि चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishore) का चुनाव में टिकट आवंटन को लेकर कोई रोल नहीं होता है. जबकि सरकार में उनके अपने ही राज्य उद्योग विकास कार्पोरेशन के चेयरमैन कृष्ण कुमार बावा (Krishna Kumar Bawa) की ऑटोबायोग्राफी पर आधारित किताब में इस बात का खुलासा किया गया है कि कैसे प्रशांत किशोर की फौज को खुश करने के चक्कर में 2017 के विधानसभा चुनाव (2017 assembly elections) में उनका टिकट कट गया था. पंजाबी में लिखी इस किताब 'संघर्ष दे 45 साल' का विमोचन हाल ही में कैबिनेट मंत्री साधू सिंह धर्मसोत ने किया है.

जीवन के अनुभवों पर आधारित है किताब

बावा की इस किताब में कांग्रेस पार्टी की कार्यप्रणाली का खुलासा किया गया है जो उनके जीवन से जुड़ी हुई है. उन्होंने इस किताब में अपने जीवन के कुछ ऐसे अनुभव शेयर किए हैं जो उनके जीवन में उत्पन्न हुई विकट परिस्थितियों और संषर्घ को उजागर करते हैं. एक हिंदी दैनिक अखबार की एक रिपोर्ट के मुताबिक कृष्ण कुमार बावा ने इस किताब में जिक्र किया है कि कैसे 2017 के विधानसभा चुनाव में उनका टिकट कट गया था.

Youtube Video

उन्होंने किताब में लिखा है कि कई ऐसे लोग पैसों के दम पर टिकट हासिल कर लेते हैं, जिनका कांग्रेस से कोई सरोकार नहीं होता है. ऐसे में पार्टी टिकट का दावा करने के लिए दूसरी पार्टियों के नेता और सेवामुक्ति के नाम पर कई अफसर भी टिकट के लिए अग्रिम पंक्ति में आ जाते है. पंजाब में साल 2022 में विधानसभा चुनाव होने हैं.

यह भी पढ़ें: क्‍या टिकट बंटवारे में अहम भूमिका निभाएंगे प्रशांत किशोर? CM अमरिंदर ने दिया जवाब

कैसे कट गया था 2017 के चुनाव में टिकट



रिपोर्ट के मुताबिक पंजाबी की इस किताब में कृष्ण कुमार बावा ने लिखा कि 2017 के विधानसभा चुनाव में उन्हें सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लुधियाना की आत्मनगर सीट से चुनाव लड़ने की तैयारी करने को कहा था, इस दौरान यहां से टिकट हासिल करने के लिए कई लोग प्रशांत किशोर की फौज को खुश करने में लगे हुए थे.



कैप्टन के आश्वासन के बाद भी उन्हें टिकट नहीं मिल पाया था. यही नहीं उस समय लोहड़ी के पर्व पर रायकोट में आयोजित एक समारोह में कैप्टन ने मुझे फिर से चिंता न करने को कहा और मुझे लुधियाना के पूर्वी विस क्षेत्र से लड़ने का आश्वासन दिया. बावा लिखते हैं कि आश्वासन के बावजूद वही हुआ जो पंजाब कांग्रेस प्रभारी और स्थानीय नेता करना चाहते थे, शराफत में मेरा टिकट कट गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज