• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • पूर्व AIADMK मंत्री के घर मिले 34 लाख, रॉल्स रॉयल कार, 5 किलो हीरे-सोने के गहने

पूर्व AIADMK मंत्री के घर मिले 34 लाख, रॉल्स रॉयल कार, 5 किलो हीरे-सोने के गहने

वीरामणि के पास से बड़े स्तर पर संपत्ति जब्त की गई है.

वीरामणि के पास से बड़े स्तर पर संपत्ति जब्त की गई है.

डायरेक्टरेट ऑफ विजिलेंस एंड एंटी करप्शन (DVAC) ने केसी वीरामणि (KC Veeramani) के खिलाफ बड़े स्तर पर छापेमारी की है. करीब 100 अधिकारियों ने 30 जगहों पर छापेमारी की जिसमें वीरामणि का गृहनगर भी शामिल है. थिरुपतुर, चेन्नई, वेल्लोर, रानीपेट, थिरुवन्नामलाई और कृष्णागिरी समेत कर्नाटक में भी कुछ जगहों पर छापेमारी की गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    SANJEEVEE SADAGOPAN
    चेन्नई.
    तमिलनाडु की AIADMK सरकार में मंत्री रहे केसी वीरामणि (KC Veeramani) के घर पर छापे के दौरान एक रॉल्स रॉयस कार, 34 लाख कैश और 5 किलो हीरे सोने की ज्वेलरी मिली है. बृहस्पतिवार को उनके घर पर ये छापा डायरेक्टरेट ऑफ विजिलेंस एंड एंटी करप्शन (DVAC) की विंग ने मारा. इस दौरान करोड़ों की संपत्ति मिली है. DVAC ने केसी वीरामणि के खिलाफ बड़े स्तर पर छापेमारी की है. करीब 100 अधिकारियों ने 30 जगहों पर छापेमारी की जिसमें वीरामणि का गृहनगर भी शामिल है. थिरुपतुर, चेन्नई, वेल्लोर, रानीपेट, थिरुवन्नामलाई और कृष्णागिरी समेत कर्नाटक में भी कुछ जगहों पर छापेमारी की गई.

    केसी वीरामणि 2016 से 2021 तक वाणिज्य कर और रजिस्ट्री डिपार्टमेंट के मंत्री थे. एंटी करप्शन विंग ने उनके खिलाफ बुधवार को एफआईआर दायर की थी. एफआईआर भ्रष्टाचार विरोधी कानून के तहत दर्ज की गई थी. रिपोर्ट के मुताबिक 2016 से 2021 के बीच वीरामणि ने घोषित संपत्ति से 654 गुना ज्यादा संपत्ति अर्जित की. उनके पास 28.78 करोड़ से ज्यादा की अघोषित संपत्ति है. उन्होंने अपनी मां के नाम पर संपत्ति अर्जित की जिनकी उम्र 80 साल की है.

    रेड के बाद DAVC ने क्या कहा
    रेड के बाद DVAC ने कहा है कि जब्त की गई संपत्तियों ने 9 लक्जरी कार, करीब 5 लाख सोना, 34 लाख कैश, 7.2 किलो चांदी, 47 ग्राम हीरा, बैंक पासबुक और 30 विभिन्न जगहों पर संपत्ति के कागजात शामिल हैं.

    AIADMK कार्यकर्ताओं ने स्टालिन सरकार के खिलाफ की नारेबाजी
    इस खबर के फैलते ही AIADMK के कार्यकर्ता वीरामणि के घर के सामने इकट्ठे हो गए. कार्यकर्ताओं ने सत्ताधारी डीएमके के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और काले झंडे दिखाए. सीनियर पार्टी नेता और पूर्व मंत्री जयकुमार ने कहा कि ये कार्रवाई राजनीतिक द्वेष के आधार पर की गई है. उन्होंने आरोप लगाया है कि डीएमके ने ये कार्रवाई आगामी स्थानीय चुनावों के मद्देनजर की है. उनके मुताबिक वीरामणि की प्रतिष्ठा धूमिल करने की कोशिश की जा रही है.

    (यहां क्लिक कर ये स्टोरी पूरी पढ़ी जा सकती है.)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज