रोशन बेग बोले- ईमान नहीं पार्टी बदल रहा हूं, बीजेपी भी राजनीतिक दल है

बेग ने कहा कि, 'जिस तरह से कांग्रेस ने मेरे साथ बर्ताव किया और मुझे सस्पेंड किया, उससे मैं आहत हूं.'

News18Hindi
Updated: July 8, 2019, 9:45 PM IST
रोशन बेग बोले- ईमान नहीं पार्टी बदल रहा हूं, बीजेपी भी राजनीतिक दल है
यह पूछे जाने पर कि क्या वह पार्टी बदल रहे हैं इस पर बेग ने कहा, 'क्यूं नहीं! मुख्य इमान नहीं बदल रहा. बीजेपी भी एक राजनीतिक पार्टी है.'
News18Hindi
Updated: July 8, 2019, 9:45 PM IST
कांग्रेस में इस्तीफों का ढेर लग गया है. कर्नाटक में एक ओर सरकार के संकट का हल निकालने की कोशिश में जुटी है तो वहीं इस्तीफों का दौर जारी है. ताजा इस्तीफा कांग्रेस की कर्नाटक इकाई के वरिष्ठ नेता रोशन बेग का हुआ है. सोमवार को रोशन बेग में पत्रकारों से कहा कि, 'कांग्रेस पार्टी ने जिस तरह से मेरे साथ बर्ताव किया उससे मैं आहत हूं, मैं अपने विधायक पद से इस्तीफा दे दूंगा और बीजेपी में शामिल हो जाऊंगा.'

समाचार एजेंसी ANI से बेग ने कहा कि, 'जिस तरह से कांग्रेस ने मेरे साथ बर्ताव किया और मुझे सस्पेंड किया, उससे मैं आहत हूं क्योंकि मैंने कड़वा सच बोला. राज्य का नेतृत्व विफल रहा है, कोई जवाबदेही नहीं है. मैं तो मुंबई या गोवा नहीं जा रहा हूं, मैं बेंगलुरु में हूं. मैं एमएलए पद से इस्तीफा देने जा रहा हूं.वे (भाजपा) मेरे संपर्क में हैं.'

यह पूछे जाने पर कि क्या वह पार्टी बदल रहे हैं इस पर बेग ने कहा, 'क्यूं नहीं! ईमान नहीं बदल रहा. बीजेपी भी एक राजनीतिक पार्टी है.'

यह भी पढ़ें:   राहुल को मनाने में समय बर्बाद न करें: कर्ण सिंह

तीन दिन से जारी कर्नाटक में नाटक

कर्नाटक में राजनीति का नाटक बीते तीन दिन से जारी है. कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर के गठबंधन की सरकार से 14 विधायकों के इस्तीफे के बाद पैदा हुए संकट को संभालने में दोनों दल लगे हुए हैं. वहीं भारतीय जनता पार्टी, सरकार बनाने की संभावनाओं को तलाश रही है.

कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार को बचाने के लिए दोनों पार्टियों ने बड़ा सियासी दांव चला है. गठबंधन सरकार में कांग्रेस के सभी 31 मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया. इसके कुछ देर बाद जेडीएस के मंत्रियों ने भी इस्तीफा दे दिया. अब नए सिरे से कैबिनेट का गठन होगा.
Loading...

सरकार बचाने के लिए एक ओर जहां कांग्रेस और जेडीएस ने सारा जोर लगा दिया है वहीं बागी विधायक मानने को तैयार नहीं हैं. अगर मंगलवार को विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार सभी विधायकों के इस्तीफे स्वीकार कर लेते हैं तो परिस्थितियां बीजेपी के पक्ष में हो जाएंगीं.

यह भी पढ़ें:  सियासी 'कर-नाटक', 31 मंत्रियों के इस्‍तीफे, समझें पूरा मामला
First published: July 8, 2019, 9:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...