विश्व हिंदू परिषद ने कहा- रामजन्मभूमि मंदिर का मुद्दा ठंडे बस्ते में नहीं रह सकता

विश्व हिंदू परिषद ने कहा- रामजन्मभूमि मंदिर का मुद्दा ठंडे बस्ते में नहीं रह सकता
विहिप के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा रामजन्मभूमि मंदिर का मुद्दा ठंडे बस्ते में नहीं रह सकता. केवल यही उचित होगा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या जाएं, वहां भूमि पूजन करें और मंदिर निर्माण का कार्य आगे बढ़े.’’ (File photo)

विहिप (VHP) का यह बयान एनसीपी प्रमुख शरद पवार (NCP Chief Sharad Pawar) की उस टिप्पणी के संदर्भ में आया जिसमें उन्होंने रविवार को कहा था कि कुछ लोगों को लगता है कि मंदिर बनाने से कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) का उन्मूलन करने में मदद मिलेगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. विश्व हिन्दू परिषद (Vishwa Hindu Parishad) ने सोमवार को कहा कि रामजन्मभूमि मंदिर (Ramjanmabhoomi Mandir) का मुद्दा ठंडे बस्ते में नहीं रखा जा सकता और केवल यही उचित होगा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) अयोध्या (Ayodhya) जाकर भूमि पूजन करें और मंदिर निर्माण का कार्य आगे बढ़े. विहिप (VHP) का यह बयान एनसीपी प्रमुख शरद पवार (NCP Chief Sharad Pawar) की उस टिप्पणी के संदर्भ में आया जिसमें उन्होंने रविवार को कहा था कि कुछ लोगों को लगता है कि मंदिर बनाने से कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) का उन्मूलन करने में मदद मिलेगी.

जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट (Janmabhoomi Theerth Kshetra Trust) ने अयोध्या में राम मंदिर की आधारशिला रखने के लिए अगले महीने की दो तारीखों का सुझाव दिया था, जिसके बाद पवार की यह टिप्पणी आई थी. पवार की इस टिप्पणी का कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने समर्थन किया था और उन्हें संबोधित करते हुए ट्वीट किया था, ‘‘काश मोदी़ शाह आपके कहने पर चलते तो देश के यह हालात नहीं होते.’’ ट्रस्ट ने तीन या पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शिलान्यास करने के लिए आमंत्रित किया है.

ये भी पढ़ें- अयोध्या में भव्य राम मंदिर का प्लान: चांदी की ईंटें, 3 दिन तक मंत्रोच्चार, PM मोदी, मोहन भागवत के साथ उद्धव को भी न्योता



शरद पवार और दिग्विजय सिंह का बयान समझ से परे
विहिप के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि इस संबंध में शरद पवार और दिग्विजय सिंह की ओर से दिया गया बयान उनकी ‘‘समझ से परे’’ है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार, उत्तर प्रदेश की सरकार और अन्य राज्य सरकारें कोरोना महामारी का मजबूती से मुकाबला कर ही हैं.

कुमार ने कहा कि कोरोना हालांकि अभी कुछ समय तक रहने वाला है लेकिन देश और जीवन अनिश्चित समय के लिए नहीं थम सकता. सावधानियों के साथ जिंदगी पटरी पर लाने के प्रयास हो रहे हैं. अर्थव्यवस्था, उद्योग और सेवाओं को पटरी पर लाना जरूरी है और इस दिशा में प्रयास भी हो रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘‘इसी प्रकार हर सामाजिक, धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियां भी चलती रहनी चाहिए. रामजन्मभूमि मंदिर का मुद्दा ठंडे बस्ते में नहीं रह सकता. केवल यही उचित होगा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या जाएं, वहां भूमि पूजन करें और मंदिर निर्माण का कार्य आगे बढ़े.’’

कुमार ने कहा कि इस दौरान सभी प्रकार की सावधानियां बरती जाएंगी और सरकारी दिशा-निर्देशों का पालन किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading