Home /News /nation /

'जीसस क्राइस्ट तमिल ब्राह्मण थे और शिव की पूजा करते थे'

'जीसस क्राइस्ट तमिल ब्राह्मण थे और शिव की पूजा करते थे'

जीसस क्राइस्ट तमिल ब्राह्मण थे और वो भगवान शंकर की पूजा करते थे. जी हां, ये दावा है किया आरएसएस के संस्थापक सदस्यों में रहे गणेश दमादोर सावरकर ने

जीसस क्राइस्ट तमिल ब्राह्मण थे और वो भगवान शंकर की पूजा करते थे. जी हां, ये दावा है किया आरएसएस के संस्थापक सदस्यों में रहे गणेश दमादोर सावरकर ने

जीसस क्राइस्ट तमिल ब्राह्मण थे और वो भगवान शंकर की पूजा करते थे. जी हां, ये दावा है किया आरएसएस के संस्थापक सदस्यों में रहे गणेश दमादोर सावरकर ने

  • Pradesh18
  • Last Updated :
    जीसस क्राइस्ट तमिल ब्राह्मण थे और वो भगवान शंकर की पूजा करते थे. जी हां, ये दावा है किया आरएसएस के संस्थापक सदस्यों में रहे गणेश दमादोर सावरकर ने. उन्होंने अपनी किताब ' जीसस क्राइस्ट' में दावा किया है कि जीसस तमिल के विश्वकर्मा ब्राह्मण थे और क्रिश्चयनिटी हिंदुत्व से ही निकली हुई एक धारा है.
    वीर सावरकर के बड़े भाई रहे गणेश सावरकर की ये किताब स्वतंत्रवीर सावरकर स्मारक 26 फरवरी को विमोचन करेगा. हालांकि इस किताब में जीसस के जन्मस्थान के बारे में नहीं बताया गया है लेकिन ये जरूर कहा गया है कि फिलीस्तीन और अरब देश कभी हिंदुओं की भूमि रही है और जीसस क्राइस्ट ने पूरे भारत में दौरा किया था.
    किताब और क्या किए गए हैं दावे?
    जीसस क्राइस्ट तमिल हिंदू थे. उनका असली नाम केशव कृष्णा था. उनकी मातृभाषा तमिल थी. वो सांवले रंग थे. जब वह 12 साल के थे तो उनका जनेऊ संस्कार किया गया था. जीसस का परिवार भारतीय वेशभूषा पहनता था.
    क्रिश्चियनिटी कभी अलग धर्म नहीं था. ये हिंदुत्व से निकली एक धारा थी. जिसे क्राइस्ट ने शुरू किया था. योग करने वाले एशियन समुदाय के लोगों ने ही क्राइस्ट की रक्षा की थी जब उनको सूली पर चढ़ा दिया गया था.
    घायल क्राइस्ट की आर्युवैदिक इलाज किया था जिससे उनको बचाया जा सका था. क्राइस्ट ने अपने जीवन के अंतिम पल हिमालय में बिताए थे.
    ठीक होने के बाद क्राइस्ट ने हिमालय (कहीं कश्मीर के पास) एक मठ की स्थापना की थी. जहां उन्होंने शिव जी की तीन साल तपस्या की और भगवान शंकर ने उनको दर्शन दिए थे.
    अरब हिंदुओं की भूमि थी और यहूदी हिंदू थे. अरबी में कई संस्कृत और तमिल शब्द इस्तेमाल किए जाते हैं. फिलिस्तीन में बोली जाने वाली अरबी तमिल का ही दूसरा रूप है.

    Tags: RSS

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर