लाइव टीवी

नकाबपोश कौन थे नहीं पता, लेकिन JNU हिंसा में पीड़ित ABVP के कार्यकर्ता हैं- RSS नेता सुनील अंबेकर

News18Hindi
Updated: January 18, 2020, 2:13 PM IST
नकाबपोश कौन थे नहीं पता, लेकिन JNU हिंसा में पीड़ित ABVP के कार्यकर्ता हैं- RSS नेता सुनील अंबेकर
RSS नेता सुनील अंबेकर की फाइल फोटो

कई वर्षों तक ABVP को सेवाएं देने वाले RSS नेता सुनील अंबेकर ने जेएनयू हिंसा (JNU Violence) में वामपंथियों को जिम्मेदार ठहराया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 18, 2020, 2:13 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के नेता सुनील अंबेकर (Sunil Ambekar) ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में बीती 5 जनवरी को हुई हिंसा पर टिप्पणी की है. CNN-News18 के पत्रकार सुमित पांडे को दिए एक इंटरव्यू में अंबेकर ने विभिन्न मुद्दों पर बात की. इंटरव्यू में अंबेकर ने कहा कि वह 'छपाक' फिल्म के बायकॉट का समर्थन नहीं करते हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि लेफ्ट के छात्र हमेशा बाहर से लोगों को यूनिवर्सिटी में बुला लेते हैं.

JNU हिंसा पर अंबेकर ने कहा कि 'वास्तव में यह कोई नहीं जानता कि नकाबपोश छात्र कौन थे. इसकी जांच यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन करेगा, लेकिन इस हिंसा के पीड़ित ABVP के छात्र हैं.' यह पूछे जाने पर कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष के माथे पर चोट आई थी, अंबेकर ने कहा कि 'नहीं पता. वह हर बार की तरह बाहर से लाते होंगे. लेफ्ट के लोग हर बार बाहर से लोग बुलाते हैं.'

अंबेकर ने कहा, 'मुझे नहीं पता कि नकाबपोश लोग कौन थे. लेकिन लेफ्ट के लोग अकसर करते रहे हैं. जब वे सर्वर रूम पर हमला कर रहे थे तो नकाब में थे. वह 9 फरवरी 2016 वाले दिन भी नकाब में. जब वह छात्रों को पीट रहे थे तब भी नकाब में थे. तो यह उनकी परंपरा है. '

Chappak के बायकॉट का समर्थन नहीं

CAA-NRC के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शनों पर अंबेकर ने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि इसमें कोई सहज विरोध  था. अगर कुछ लोग सड़कों पर हैं तो हमें उनसे बात करनी चाहिए. सीएए के मामले में मुझे लगता है कि थोड़ा विरोध है. NRC पर लोग जानबूझकर भ्रम पैदा कर रहे हैं. देश को यह तय करना होगा कि एनआरसी कैसे किया जाना चाहिए और मुझे लगता है कि जब आधार कार्ड या अन्य कार्ड भी आए थे तो इसी तरह के मुद्दे उठाए गए थे.'

जेएनयू पहुंची अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की फिल्म छपाक के बायकॉट के मुद्दे पर अंबेकर ने कहा, 'मैं बहिष्कार के समर्थन में नहीं हूं क्योंकि वह कहीं भी जाएं और कुछ कहें यह उनकी स्वतंत्रता है लेकिन सभी हस्तियों को सोचना चाहिए कि वे किसी मुद्दे पर कहां खड़े हैं और यदि आपको पूरी जानकारी नहीं है  तो आपको स्टैंड नहीं लेना चाहिए.'

यह भी पढ़ें:  JNU हिंसा: कोमल शर्मा ने पुलिस को लिखी चिट्ठी, कहा- जांच में सहयोग...पूरा इंटरव्यू अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें-  Don’t Know Who Masked Attackers at JNU Were, But Victims Were ABVP Workers: RSS Leader Sunil Ambekar

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 18, 2020, 1:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर