Home /News /nation /

बांग्लादेश सरकार हिंदुओं और अल्पसंख्यकों की रक्षा के लिए जरूरी कदम उठाए, RSS ने पास किया प्रस्ताव

बांग्लादेश सरकार हिंदुओं और अल्पसंख्यकों की रक्षा के लिए जरूरी कदम उठाए, RSS ने पास किया प्रस्ताव

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबाले.

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबाले.

RSS Bangladesh Communal Tension: 13 अक्टूबर को चांदपुर के हाजीगंज में पूजा स्थलों पर हमले के दौरान पुलिस की गोलीबारी में कम से कम चार लोग मारे गए थे और नोआखली के चौमुहानी में, हिंदू इस्कॉन मंदिरों पर हमले में 15 अक्टूबर को दो लोगों की मौत हो गई थी.

अधिक पढ़ें ...

    धारवाड़ (कर्नाटक). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने एक प्रस्ताव पारित किया है जिसमें बांग्लादेश और भारत सरकारों से बांग्लादेश में हिंदुओं और अन्य अल्पसंख्यकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक कदम उठाने का आग्रह किया गया है.

    आरएसएस के महासचिव दत्तात्रेय होसबाले ने शनिवार को कहा, “हम बांग्लादेश में अल्पसंख्यकों पर हाल में हुए हमलों की निंदा करते हैं. हमने बांग्लादेश और भारत सरकारों से बांग्लादेश में हिंदुओं और अन्य अल्पसंख्यकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक कदम उठाने की अपील करने के लिए एक प्रस्ताव पारित किया है.”

    ममता बनर्जी बोलीं- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी होंगे और पावरफुल, राजनीति को सीरियस नहीं ले रही कांग्रेस

    संघ की बैठक में बांग्लादेश हिंसा पर चर्चा
    होसबाले वर्तमान में आरएसएस की तीन दिवसीय अखिल भारतीय कार्यकारी बोर्ड की बैठक में भाग ले रहे हैं, जो कर्नाटक के धारवाड़ जिले में चल रही है. इस बैठक में बांग्लादेश में हिंदुओं के खिलाफ कथित हिंसा के मुद्दे पर चर्चा की गई थी. 13 अक्टूबर को कमिला में एक पूजा मंडप में कुरान का अपमान करने के आरोपों के बाद पिछले कुछ दिनों में बांग्लादेश में सांप्रदायिक तनाव बढ़ गया है, जिससे देश भर के कई जिलों में हिंसा शुरू हो गई है.

    हिंसा और गोलीबारी 6 लोगों की मौत
    13 अक्टूबर को चांदपुर के हाजीगंज में पूजा स्थलों पर हमले के दौरान पुलिस की गोलीबारी में कम से कम चार लोग मारे गए थे और नोआखली के चौमुहानी में, हिंदू इस्कॉन मंदिरों पर हमले में 15 अक्टूबर को दो लोगों की मौत हो गई थी.

    Tags: Bangladesh, RSS

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर