होम /न्यूज /राष्ट्र /COVID-19 का पता लगाने के लिए, होम किट्स की तुलना में RT-PCR टेस्‍ट ही सबसे अच्‍छा: विशेषज्ञ

COVID-19 का पता लगाने के लिए, होम किट्स की तुलना में RT-PCR टेस्‍ट ही सबसे अच्‍छा: विशेषज्ञ

कोरोना वायरस टेस्ट. (सांकेतिक फोटो)

कोरोना वायरस टेस्ट. (सांकेतिक फोटो)

covid-19 testing : कोविड-19 का पता लगाने के लिए RT-PCR टेस्‍ट का स्‍वर्ण मानक बना हुआ है. यह बात ओमिक्रॉन के सब वेरिएंट ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली.   कोविड-19 (COVID 19 Test) का पता लगाने के लिए RT-PCR टेस्‍ट (RT PCR Test)  का स्‍वर्ण मानक बना हुआ है. यह बात ओमिक्रॉन के सब वेरिएंट BA.2 को ट्रैक करने में आ रही कठिनाई के दौर में विशेषज्ञों ने कही है. डांग्स लैब के सीईओ डॉ. अर्जुन डांग ने एएनआई को बताया कि  ‘यह समझना बहुत महत्वपूर्ण है कि टेस्‍ट के लिए सोने का मानक और जल्द पता लगाने के लिए आरटी- पीसीआर टेस्‍ट ही सबसे अच्‍छा बना रहेगा.’ उन्‍होंने कहा कि अभी इस बात का ध्‍यान रखना होगा कि जेनेटिक या फिर जीनोमिक सीक्‍वेंसिंग को लेकर जो सरकार ने कदम उठाए हैं वे टेस्‍ट की दृष्टि से एकदम सही और सटीक हैं.  फिलहाल सरकार जो टेस्‍ट कर रही है, उसके लिए स्‍वर्ण मानक बना रहेगा.

आरटी-पीसीआर (RT PCR Test) टेस्‍ट के महत्व को बताते हुए डांग्स लैब के सीईओ डॉ. अर्जुन डांग ने कहा कि इसके दो पहलू हैं – पहला टेस्ट का समय और दूसरा है, किया जाने वाला आरटी-पीसीआर टेस्‍ट का प्रकार. इस बारे में उन्‍होंने कहा कि टेस्‍ट के समय का मतलब है कि आप कब टेस्‍ट कराते हैं, यदि आपने बहुत जल्‍द टेस्‍ट कराया है या ऐसे समय टेस्‍ट कराया है जब आपका वायरल लोड कम हो तो परिणाम निगेटिव ही आएगा. यदि वायरल लोड तय सीमा से ऊपर नहीं होगा तो उसे आरटी पीसीआर में निगेटिव ही माना जाएगा. वहीं आपके वायरल लक्षण लगातार बने रहते हैं तो तुरंत खुद को आइसोलेट करते हुए कुछ दिन बाद टेस्‍ट कराना चाहिए. इस दूसरी बार के टेस्‍ट के लिए यदि आपका डॉक्‍टर सलाह दे तो ही टेस्‍ट कराएं.

यह भी पढ़ें: महाठग सुकेश ने जैकलीन से मिलने की सनक में उड़ा दिए थे 12 करोड़, अब ED की बड़ी कार्रवाई

ये भी पढ़ें :  जीन टेस्ट से हो सकेगी संक्रामक बीमारियों की पहचान, मुंबई की कंपनी विकसित किया पहला टेस्ट

महामारी की तीसरी लहर के दौरान रैपिड एंटीजन होम टेस्टिंग किट की बि‍क्री में आए तेज उछाल पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए डांग्स लैब के सीईओ डॉ. अर्जुन डांग ने कहा कि भले ही ये किट काम आ गईं हों और यदि किसी व्‍यक्ति के पास ऐसी किट हो और वह तुरंत परिणाम देती हो, तो भी उसकी तुलना आरटी-पीसीआर टेस्‍ट के साथ नहीं करनी चाहिए. होम टेस्‍ट किट की संवेदनशीलता और आरटी-पीसीआर के परिणाम में बहुत बड़ा अंतर है.

किट के जरिए ओमिक्रॉन या डेल्‍टा वेरिएंट तक का पता चल जाएगा

Tags: COVID 19 Test, RT PCR Test

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें