लाइव टीवी

महाराष्ट्र राजभवन में दाखिल की गई RTI, मांगे गई कई अहम रिकॉर्ड

News18Hindi
Updated: November 24, 2019, 9:21 AM IST
महाराष्ट्र राजभवन में दाखिल की गई RTI, मांगे गई कई अहम रिकॉर्ड
महाराष्ट्र राजभवन में दाखिल की गई RTI.

महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार गठन के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Governor Bhagat singh koshyari) के फैसले के खिलाफ शिवसेना (Shiv Sena), एनसीपी (NCP) और कांग्रेस (Congress) सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) पहुंच गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 24, 2019, 9:21 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. महाराष्ट्र (Maharashtra) में जिस तरह से रातोंरात राजनीतिक उलटफेर हुआ है, उसे देखने के बाद हर कोई हैरान है. शुक्रवार शाम तक कांग्रेस (Congress), एनसीपी (NCP) और शिवसेना (Shiv Sena) के बीच सरकार बनाने पर सहमति बनी लेकिन शनिवार सुबह जब लोग उठे तब तक बीजेपी (BJP) के देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) मुख्यमंत्री पद की शपथ ले चुके थे. अब इस पूरे घटनाक्रम पर आरटीआई (RTI) के जरिए कई रिकॉर्ड मांगे गए हैं.

आरटीआई डालने वाले शख्स ने महाराष्ट्र राजभवन से शुक्रवार दोपहर 3:00 बजे से लेकर शनिवार सुबह 8:00 बजे तक के रिकॉर्ड मांगे गए हैं. यही नहीं आरटीआई में इस दौरान राजभवन आने वाले लोगों के बारे में भी जानकारी देने को कहा गया है. इसी के साथ आरटीआई के जरिए राजभवन में आने वाले वाहनों की भी जानकारी मांगी गई है.



गौरतलब है कि महाराष्ट्र में तमाम अटकलों और कयासों के बीच भारतीय जनता पार्टी ने सरकार गठन कर लिया है. इस दौरान बीजेपी का साथ एनसीपी के नेता अजित पवार ने दिया है. देवेंद्र फडणवीस शनिवार सुबह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के तौर पर एक बार फिर से शपथ ले ली है. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने उन्हें शपथ दिलवाई. साथ ही अजित पवार ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली.
Loading...

इसे भी पढ़ें :- बीजेपी के इस नेता के पहुंचते ही महाराष्ट्र में शुरू हुई थी डील, अजित पवार की थी ये मांग- रिपोर्ट

सुप्रीम कोर्ट में महाराष्ट्र गठन पर आज होगी सुनवाई
महाराष्ट्र में सरकार गठन के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के फैसले के खिलाफ शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस, सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है. इस याचिका में बीजेपी सरकार को बर्खास्त करते हुए 24 घंटे के भीतर फ्लोर टेस्ट कराने की मांग की गई है. याचिका में इस बात का दावा किया गया है कि संख्याबल के आधार पर शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस सबसे बड़ा दल था और उन्हें ही सरकार बनाने का पहला मौका मिलना चाहिए था. सुप्रीम कोर्ट इस अर्जी पर रविवार सुबह 11:30 बजे सुनवाई करेगा. सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस एनवी रमन्ना, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस संजीव खन्ना की पीठ इस मामले की सुनवाई करेगी.

इसे भी पढ़ें :- महाराष्ट्र में बीजेपी की सरकार बनाने-गिराने में अब अहम हुए ये 29 विधायक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 24, 2019, 9:21 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...