कोविड-19 महामारी के चलते रेलवे ने मार्च से अब तक रद्द किये 1.78 करोड़ टिकट, RTI से मिली जानकारी

कोविड-19 महामारी के चलते रेलवे ने मार्च से अब तक रद्द किये 1.78 करोड़ टिकट, RTI से मिली जानकारी
कोविड-19 महामारी के चलते लगे लॉकडाउन के दौरान रेलवे ने 1.78 करोड़ टिकट कैंसिल किये (सांकेतिक फोटो)

पिछले साल एक अप्रैल से 11 अगस्त के बीच भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने 3,660.08 करोड़ रुपये वापस किए थे और समान अवधि में 17,309.1 करोड़ रुपये का राजस्व आया. ऐसा पहली बार हुआ है जब रेलवे को टिकट (Ticket) बेचने से जितनी आय (Income) हुई, उससे ज्यादा उसने रकम वापस की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 23, 2020, 4:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus pandemic) के कारण भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने इस साल मार्च से अब तक 1.78 करोड़ से अधिक टिकट रद्द (Railway Ticket Cancellation) कर दिए हैं और 2,727 करोड़ रुपये की राशि वापस यात्रियों को वापस की गई है. यह जानकारी एक आरटीआई (RTI) में सामने आई है. आरटीआई में पाया गया है कि रेलवे, जिसने 25 मार्च से अपनी यात्री ट्रेन सेवाओं (Passenger Train Services) को निलंबित कर दिया था, ने 1,78,70,644 टिकट रद्द कर दिए. इससे पहले सूचना दी थी कि शायद पहली बार रेलवे ने टिकट बुकिंग (Ticket Booking) से जितना कमाया है, उससे अधिक यात्रियों को वापस (Refund) कर दिया है.

वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही (First Quarter) में यात्री खंड में 1066 करोड़ रुपये राजस्व (Revenue) घट गया. पिछले साल एक अप्रैल से 11 अगस्त के बीच भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने 3,660.08 करोड़ रुपये वापस किए थे और समान अवधि में 17,309.1 करोड़ रुपये का राजस्व आया. ऐसा पहली बार हुआ है जब रेलवे को टिकट (Ticket) बेचने से जितनी आय (Income) हुई, उससे ज्यादा उसने रकम वापस किया है. एक अधिकारी ने इस बारे में बताया कि सेवाओं के स्थगित होने के कारण अप्रैल, मई और जून के लिए बुक टिकट की राशि वापस की गयी जबकि इन तीन महीनों के दौरान कम टिकट बुक हुए थे और इस दौरान पाबंदी भी लगी हुई थी.

टिकट रद्द करने के लिए नहीं काटा गया कोई भी शुल्क
इस वित्तीय वर्ष के पहले तीन महीने में रेलवे ने अपनी सभी नियमित यात्री सेवाओं को स्थगित कर दिया. इस दौरान रेलवे का अप्रैल में 531.12 करोड़ रुपये, मई में 145.24 करोड़ रुपये और जून में 390.6 करोड़ रुपये का राजस्व घट गया. वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही में रेलवे को अप्रैल में 4,345 करोड़ रुपये, मई में 4,463 करोड़ रुपये और जून में 4,589 करोड़ रुपये की आय हुई थी.
मध्य प्रदेश के चंद्रशेखर गौड़ द्वारा दाखिल आरटीआई के जवाब में रेलवे ने कहा कि कोविड-19 के कारण बंद ट्रेनों के टिकट रद्द करने के लिए कोई शुल्क नहीं काटा गया. (भाषा के इनपुट सहित)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज