होम /न्यूज /राष्ट्र /UNSC में भारत ने रूस-यूक्रेन युद्ध पर रखा अपना पक्ष, कहा- बातचीत और कूटनीति ही इस समस्या का हल

UNSC में भारत ने रूस-यूक्रेन युद्ध पर रखा अपना पक्ष, कहा- बातचीत और कूटनीति ही इस समस्या का हल

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में भारत ने रूस-यूक्रेन युद्ध पर अपना पक्ष रखा.

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में भारत ने रूस-यूक्रेन युद्ध पर अपना पक्ष रखा.

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) की बैठक में संयुक्त राष्ट्र की भारत की तरफ से स्थायी प्रतिनिधि रुचिरा कंबोज ने रूस ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में भारत ने रूस-यूक्रेन युद्ध पर अपना पक्ष रखा.
भारत ने कहा कि हम हमेशा से दोहराते आ रहे हैं कि शत्रुता बातचीत और कूटनीति से ही खत्म होगी.
संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में भारत की तरफ से रुचिरा कंबोज ने पक्ष रखा.

वॉशिंगटन. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) की बैठक में संयुक्त राष्ट्र की भारत की तरफ से स्थायी प्रतिनिधि रुचिरा कंबोज ने रूस-यूक्रेन युद्ध पर भारत का पक्ष रखा. इस दौरान उन्होंने कहा कि यूक्रेन संघर्ष के लिए भारत का दृष्टिकोण मानव-केंद्रित बना रहेगा. साथ ही यह भी कहा कि हमारी ओर से हम यूक्रेन को मानवीय सहायता और आर्थिक संकट के तहत वैश्विक दक्षिण में अपने कुछ पड़ोसियों को आर्थिक सहायता प्रदान कर रहे हैं. इसके अलावा पीएम मोदी के बयान का जिक्र करते हुए रुचिरा कंबोज ने कहा कि ताशकंद में एससीओ शिखर सम्मेलन के मौके पर राष्ट्रपति पुतिन के साथ अपनी बैठक के दौरान पीएम मोदी ने भी स्पष्ट रूप से यह कहा था. हमारा दृढ़ विश्वास है कि वैश्विक व्यवस्था अंतरराष्ट्रीय कानून, संयुक्त राष्ट्र चार्टर और राज्यों की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के सम्मान पर टिकी होनी चाहिए.

इसके अलावा रुचिरा कंबोज ने कहा कि यूक्रेन संघर्ष अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के लिए गंभीर चिंता का विषय है. भारत ने बार-बार शत्रुता को तत्काल समाप्त करने और बातचीत और कूटनीति के माध्यम से इस संघर्ष को हल करने की आवश्यकता का आह्वान किया है. बता दें कि अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को कही गई इस बात से अमेरिका पूरी तरह सहमत है कि ‘यह समय युद्ध का नहीं है.’

ब्लिंकन ने विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ यहां एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि अमेरिका ने यूक्रेन संकट को कूटनीति के जरिये टालने की पूरी कोशिश की. उन्होंने कहा, ‘दुर्भाग्य से, राष्ट्रपति पुतिन ने फिर भी हमला कर दिया और अब न केवल यूक्रेन के लोग, बल्कि पूरी दुनिया इसके परिणाम भुगत रही है.’ ब्लिंकन ने सवालों का जवाब देते हुए कहा, ‘मैं इस बात पर वास्तव में जोर देना चाहता हूं, जो प्रधानमंत्री मोदी ने कही थी.’ (इनपुट भाषा से)

Tags: Russia ukraine war, UNSC

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें