कोविड-19 वैक्सीन को लेकर रूस ने किया भारत से संपर्क, साझेदारी में कर सकता है उत्पादन

कोविड-19 वैक्सीन को लेकर रूस ने किया भारत से संपर्क, साझेदारी में कर सकता है उत्पादन
कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन का इजाद करने वाले रूस ने अपनी वैक्सीन स्पूतनिक को लेकर मोदी सरकार से संपर्क साधा है. (कॉन्सेप्ट इमेज)

रूस (Russia) अपनी कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) स्पूतनिक 5 (Sputnik-5) का भारत के साथ साझेदारी में उत्पादन कर सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 25, 2020, 5:10 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आज पूरी दुनिया कोविड- 19 महामारी (Covid-19 Pandemic) से त्रस्त है. सिर्फ भारत (India) में ही इस वैश्विक महामारी (Global Pandemic) ने अबतक 31.6 लाख से अधिक लोगों को अपनी चपेट में ले चुका है. देश में 58,390 मरीज अबतक अपनी जान गंवा चुके हैं. सभी को कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) के आने का बेसब्री से इंतजार है. इन भयावह आंकड़ों के बीच रूस (Russia) से अच्छी खबर आई है. सूत्रों की मानें तो कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन का इजाद करने वाले रूस ने अपनी वैक्सीन स्पूतनिक को लेकर मोदी सरकार से संपर्क साधा है.

कोविड 19 वैक्सीन की पूरी जानकारी के लिए रूसी प्रतिनिधियों ने किया केंद्र सरकार से संपर्क
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक रूस ने अपनी वैक्सीन स्पूतनिक 5 के बारे में विस्तृत भारत के साथ साझा कर रहा है. भारत में रूसी राजदूत निकोलॉय कुदाशेव ने बायो टेक्निकल विभाग और भारतीय आयुर्विज्ञान अनसंधान परिषद् यानी आईसीएमआर से संपर्क किया है. रूसी राजदूत ने भारत सरकार के प्रिसिंपल साइंटिफिक एडवाइजर के विजय राघवन, बायो टेक्निकल विभाग के सचिव रानु स्वरूप और आईसीएमआर के डायरेक्टर जनरल डॉ0 बलराम भार्गव से संपर्क किया है. रूसी राजदूत ने वैक्सीन से जुड़ी जानकारियां और डेटा इन हितधारकों से साझा किया है.

सूत्रों के मुताबिक वैक्सीन से जुड़ी सबसे अहम जानकारी साझा करना बाकी है. यही नहीं रूस में भारत के राजदूत भी कोरोना वैक्सीन तैयार करने वाली संस्था गैमालया नेशनल सेंटर ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबॉयोलोजी के साथ लगातार संपर्क साधे हुए हैं ताकि वैक्सीन से जुड़ी तमाम जानकारियां भारत को मिल सकें. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के साथ भी रूसी राजदूत ने बैठक की है.
ये भी पढ़ें- नॉर्थ कोरिया की क्रूरता का नया नमूना, स्कूल से घर नहीं लौट सकेंगे बीमार बच्चे



भारत में भी कई कंपनियां कोरोना वैक्सीन बनाने में जुटी
भारत में भी तीन कंपनियां सीरम इंस्टीट्यूट,जाइडस कैडिला और भारत बायोटेक कोरोना वैक्सीन पर लगातार क्लिनिकल ट्रायल पर ट्रायल कर रही हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी 15 अगस्त को लाल किले के प्राचीर से देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कहा था कोरोना वैक्सीन जल्द से जल्द लोगों को मिले इसका खाका तैयार किया जा चुका है. वैज्ञानिकों द्वारा हरी झंडी मिलते ही वैक्सीन का बड़े पैमाने पर उत्पादन शुरू कर दिया जायेगा. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक रूस भी भारत के साथ साझेदारी में कोरोना वैक्सीन का उत्पादन करने को इच्छुक है. रूसी अधिकारी ने भी स्पूतनिक 5 का उत्पादन भारत में करने की इच्छा जाहिर की है.

भारत मे कोरोना मरीजों का हाल
पिछले कुछ दिनों से देश में लगातार रोजाना 60 हजार से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं. पिछले 24 घंटों में 60,975 नए लोग इस महामारी की चपेट में आये और 848 मरीजों ने अपनी जान गंवाई. देश में अबतक कुल 31,67,323 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके है. अबतक कुल 58,390 लोगों की मौत हो चुकी है. देश में अभी भी 7,04,348 मामले सक्रिय है. अच्छी बात यह है कि मरीजों का रिकवरी रेट लगातार सुधर रहा है. अबतक कुल 2,404,585 मरीज ठीक हो चुके हैं यानी रिकवरी रेट बढ़कर 75.92 फीसदी तक पहुंच गया है.

ये भी पढ़ें- KGMU: ऑक्सीजन सप्लाई में गड़बड़ी, शासन ने पुष्पा सेल्स कंपनी को किया ब्लैकलिस्ट

दुनिया में कोरोना का हाल
पूरी दुनिया में 23,827,030 लोग इस वैश्विक महामारी की चपेट में आ चुके हैं. 817,252 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है और अभी भी 6,638,679 मामले सक्रिय हैं. अच्छी बात यह है कि 16,371,099 मरीज इस बीमारी से उबर चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading