Home /News /nation /

भारत-चीन और रूस के बीच आज होगी बैठक, विदेश मंत्री एस जयशंकर करेंगे अध्यक्षता, जानें RIC का महत्व

भारत-चीन और रूस के बीच आज होगी बैठक, विदेश मंत्री एस जयशंकर करेंगे अध्यक्षता, जानें RIC का महत्व

विदेश मंत्री अगले एक साल के लिए आरआईसी की अध्यक्षता चीन के विदेश मंत्री वांग को को सौपेंगे.(फाइल फोटो)

विदेश मंत्री अगले एक साल के लिए आरआईसी की अध्यक्षता चीन के विदेश मंत्री वांग को को सौपेंगे.(फाइल फोटो)

RIC Group Meeting Amid India China Dispute: आरआईसी समूह (RIC Group) देश यानि रूस (Russia) भारत(India) और चीन (China) के विदेश मंत्रियों के बीच आज बैठक होगी. इस बैठक में मुख्य रूप से त्रिपक्षीय सहयोग को मजबूत करने के साथ साथ क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर समीक्षा की जाएगी.इससे पहले पिछले साल सितबंर महीने में मास्कों में आरआईसी बैठक हुई थी. बैठक के बाद विदेश मंत्री अगले एक साल के लिए आरआईसी की अध्यक्षता चीन के विदेश मंत्री वांग को को सौपेंगे.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: आरआईसी समूह (RIC Group) देश यानि रूस (Russia) भारत (India) और चीन (China) के विदेश मंत्रियों के बीच आज बैठक होगी. यह बैठक डिजिटल माध्यम से आयोजित की जाएगी. तीनों देशों के बीच होने वाली इस बैठक की अध्यक्षता विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) करेंगे. इसकी जानकारी विदेश मंत्रालय ने दी. इस बैठक में मुख्य रूप से त्रिपक्षीय सहयोग को मजबूत करने के साथ साथ क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर समीक्षा की जाएगी.

    आरआईसी समहू के अंतर्गत होने वाली विदेश मंत्रियों के बीच यह 18वें दौर की वार्ता होगी. इससे पहले पिछले साल सितबंर महीने में मास्कों में आरआईसी बैठक हुई थी. जहां अगली बैठक की अध्यक्षता की जिम्मेदारी भारत को सौंपी गई थी. विदेश मंत्रालय ने अपने एक बयान में कहा कि विदेश मंत्रियों के महत्वपूर्ण क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर विचारों के आदान प्रदान समते इस आरआईसी के त्रिपक्षीय सहयोग को मजबूत करने की भी उम्मीद है.

    विदेश मंत्रालय ने जारी किया बयान
    मंत्रालय ने कहा कि ऐसे समय में जब दुनिया तेज गति से अशांति और बदलाव के दौर में प्रवेश कर चुकी है, वह तीन देशों के विदेश मंत्रियों की वार्षिक बैठक में भारत और रूस के साथ संवाद को मजबूत करने, आपसी विश्वास बढ़ाने तथा आम सहमति बनाने की उम्मीद करता है.

    भारत चीन के तनाव के बीच बैठक
    आरआईसी की बैठक ऐसे समय पर हो रह है जब भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा यानि एलएसी में पिछले कई महीनों से तनाव की स्थिति बनी हुई है. लद्दाख सेक्टर में भारत और चीन के बीच गतिरोध होने से त्रिपक्षीय सहयोग काफी ज्यादा प्रभावित हुआ है. इस बैठक के बाद विदेश मंत्री एस जयशंकर अगले एक साल के लिए आरआईसी की अध्यक्षता चीन के विदेश मंत्री वांग को को सौपेंगे.

    चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दुनिया बदलाव और कोविड-19 महामारी के असर का सामना कर रही है और यह मंच अंतरराष्ट्रीय संबंधों में लोकतंत्र को बढ़ावा देने, एक साथ महामारी से लड़ने, आर्थिक सुधार को बढ़ावा देने, शांति-स्थिरता के लिए दुनिया को वास्तविक बहुपक्षवाद का सकारात्मक संदेश देता है. बता दें कि तीनों देशों के विदेश मंत्री आपसी हित के द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर समय-समय पर चर्चा करने के लिए बैठक करते हैं.

    Tags: China, India china ladakh, S Jaishankar

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर