रूस ने कहा- भारत ने संविधान के दायरे में जम्मू-कश्मीर से हटाया आर्टिकल-370

रूस (Russia) ने साफ किया है कि जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से आर्टिकल-370 (Article-370) हटाने का फैसला भी भारत (India) ने संविधान के दायरे में लिया है.

News18Hindi
Updated: August 10, 2019, 11:39 AM IST
रूस ने कहा- भारत ने संविधान के दायरे में जम्मू-कश्मीर से हटाया आर्टिकल-370
रूस ने कहा- भारत ने संविधान के दायरे में जम्मू-कश्मीर से हटाया आर्टिकल-370
News18Hindi
Updated: August 10, 2019, 11:39 AM IST
रूस (Russia) ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि वह भारत (India) का सबसे अच्छा दोस्त है. रूस ने जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में आर्टिकल-370 (Article-370) हटाए जाने पर भारत का समर्थन किया है. रूस के विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है भारत का जम्मू-कश्मीर को दो भागों में बांटकर केंद्र शासित प्रदेश बनाने का फैसला संविधान के दायरे में लिया गया है. इसी के साथ जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल-370 हटाने का फैसला भी भारत ने संविधान के दायरे में लिया है.

रूस ने उम्मीद जताई है कि जम्मू-कश्मीर का मुद्दा भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव की स्थिति जरूर पैदा हुई है लेकिन दोनों ही देश इस मामले में संयम बरत रहे हैं. बयान में कहा गया है कि रूस हमेशा से भारत और पाकिस्तान के बीच बेहतर रिश्तों का पक्षधर रहा है. रूस ने उम्मीद जताई है कि दोनों देश किसी भी तरह के विवाद को राजनीतिक और राजनयिक संवाद से सुलझा लेंगे.

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल-370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान ने दुनिया भर के नेताओं से इस मसले पर हस्तक्षेप करने की मांग की है. पाकिस्तान ने इस संबंध में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को भी चिट्ठी लिखी है और इस मामले में भारत को रोकने की मांग की है.

Jammu, Kashmir, Jammu Kashmir, Russia, Pakistan, Article -370,

हालांकि, यूएन महासचिव गुटेरेस ने शिमला समझौते का जिक्र करते हुए कहा कि इस मुद्दे पर कोई भी तीसरा पक्ष मध्यस्थता नहीं कर सकता. हालांकि उन्होंने कहा कि हम दोनों देशों के नाजुक हालात पर नजर बनाए हुए हैं.उन्होंने कहा किा हम दोनों देशों से शांति बनाए रखने की अपील करते हैं.

Jammu, Kashmir, Jammu Kashmir, Russia, Pakistan, Article -370,

इसी के साथ अमेरिका ने भी दोहराया है कि वह कश्मीर को लेकर अपनी नीति में कोई बदलाव नहीं कर रहा है. वह भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर मुद्दे सुलझाने पर लगातार नजर बनाए हुए है. उन्होंने कहा कि कश्मीर मुद्दे को बिना किसी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता के भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय रूप से हल किया जाना चाहिए.
First published: August 10, 2019, 11:37 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...