अपना शहर चुनें

States

रूस का दावा- हमारी कोविड-19 वैक्सीन 'Sputnik V' 95 प्रतिशत प्रभावी

रूस ने स्पूतनिक वी को 95 प्रतिशत प्रभावी बताया है (सांकेतिक तस्वीर)
रूस ने स्पूतनिक वी को 95 प्रतिशत प्रभावी बताया है (सांकेतिक तस्वीर)

Sputnik V Vaccine: रूस ने दावा किया है कि उसकी कोविड-19 वैक्सीन स्पूनिक वी दूसरे अंतरिम विश्लेषण में 95 प्रतिशत प्रभावी पाई गई है. हालांकि उसने इसकी गणना के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले मामलों की संख्या पर ध्यान नहीं दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 24, 2020, 5:32 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. रूस (Russia) ने दावा किया है कि कोरोना वायरस वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) स्पूतनिक वी (Sputnik V) दूसरे अंतरिम विश्लेषण के अनुसार 95 प्रतिशत प्रभावी है. वैक्सीन के डेवलपर्स ने मंगलवार को यह जानकारी दी. रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय, राज्य संचालित गामलेया अनुसंधान केंद्र और रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) ने एक बयान में कहा,  ये गणना 42 दिनों के बाद प्राप्त प्रारंभिक आंकड़ों पर आधारित थी. हालांकि, उन्होंने गणना करने के लिए उपयोग किए जाने वाले मामलों की संख्या पर ध्यान नहीं दिया है.

इससे पहले फाइज़र (Pfizer) और मॉडर्ना (Moderna) कोविड-19 के खिलाफ तैयार की जा रही अपनी वैक्सीन को 90 प्रतिशत से ज्यादा प्रभावी बता चुकी हैं. रूस ने अगस्त में स्पूतनिक वी को पंजीकृत कराया था. इस वैक्सीन की खुराक रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Russian President Vladimir Putin) की बेटी को भी दी जा चुकी है. कोरोना वायरस के खिलाफ रूस की इस वैक्सीन की कीमतों को लेकर भी खुलासा हुआ है. रूस ने घोषणा की है कि अन्य टीकों की तुलना में उसकी वैक्सीन का दाम कम होगा. रूस ने अगले साल तक अपने और अन्य देशों के लिए 1 खरब खुराकों के उत्पादन का लक्ष्य रखा है.

ये भी पढ़ें- 27 नवंबर से शुरू होगा भारत का पहला फेस टेक ट्रैकर, अपराधियों की पहचान होगी आसान



ये होगी वैक्सीन की कीमत
रूस की वैक्सीन स्पूतविक वी के दो शॉट की कीमत अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में प्रति व्यक्ति 20 डॉलर से कम होगी. जहां प्रत्येक शॉट की कीमत 10 डॉलर से कम होगी. रूस संप्रभु धन निधि ने ये जानकारी दी है. इस महीने की शुरुआत में स्पूतनिक वी के निर्माता आरडीआईएफ और गामलेया इंस्टीट्यूट ने विस्तृत ट्रायल के अंतरिम डाटा के आधार पर बताया था कि उनकी वैक्सीन 92 प्रतिशत प्रभावी है.

एक आधिकारिक बयान के मुताबिक रूस के नागरिकों के लिए टीकाकरण निशुल्क होगा. वहीं जिन ग्राहकों ने रूस की इस वैक्सीन के लिए आवेदन किया है उन्हें पहला बैच मार्च 2021 तक मिल जाएगा. बयान में कहा गया कि आरडीआईएफ को फिलहाल अन्य देशों और कंपनियों से आवेदन मिल रहे हैं जिसके चलते वह उत्पादन क्षमता में इजाफा कर रही है.

11 अगस्त को, स्पूतनिक वी टीका रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा पंजीकृत किया गया था और ये मानव एडेनोवायरल वेक्टर प्लेटफॉर्म पर आधारित कोविड-19 के खिलाफ दुनिया का पहला पंजीकृत टीका बन गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज