होम /न्यूज /राष्ट्र /जंग खत्म करने के लिए यूक्रेन और रूस एक-दूसरे से सीधी बातचीत करें, UNSC में भारत ने कहा

जंग खत्म करने के लिए यूक्रेन और रूस एक-दूसरे से सीधी बातचीत करें, UNSC में भारत ने कहा

रूस ने यूक्रेन के कई शहरों पर हमला तेज कर दिया है. (फाइल फोटो)

रूस ने यूक्रेन के कई शहरों पर हमला तेज कर दिया है. (फाइल फोटो)

Russia Ukraine War: पूर्व में रूस से लगने वाली सीमा से लेकर पश्चिम में कारपेथियाई पहाड़ों तक देशभर के शहरों और कस्बों म ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. भारत ने अंतरराष्ट्रीय कानून, संप्रभुता और राज्यों की क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करने की जरूरत पर बल देते हुए सोमवार को यूक्रेन और रूस के बीच शत्रुता समाप्त करने के लिए सीधी बातचीत का आह्वान किया. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की एक बैठक में बोलते हुए भारत के उप स्थायी प्रतिनिधि आर रवींद्र ने कहा कि भारत का मानना ​​​​है कि संघर्ष का कोई भी स्थायी समाधान शांतिपूर्ण बातचीत के माध्यम से ही हासिल किया जा सकता है.

राजदूत ने कहा, “हम शत्रुता को रोकने के लिए रूस और यूक्रेन से एक-दूसरे के साथ सीधे संपर्क और बातचीत का आह्वान करते हैं. हम इस संबंध में दोनों देशों के संपर्क में हैं. हम संयुक्त राष्ट्र चार्टर, अंतर्राष्ट्रीय कानून, संप्रभुता और राज्यों की क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करने की आवश्यकता को रेखांकित करना जारी रखते हैं.”

उन्होंने आगे कहा, “भारत यूक्रेन में सभी शत्रुता को तुरंत समाप्त करने का आह्वान करता रहा है. प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी) ने बार-बार तत्काल युद्धविराम का आह्वान किया है और संवाद एवं कूटनीति के अलावा और कोई रास्ता नहीं बचा है.”

रूस और यूक्रेन के बीच वार्ता जारी
भारत का यह बयान ऐसे समय में आया है जबकि यूक्रेन की राजधानी कीव और अन्य शहरों पर हमलों के बीच रूस और यूक्रेन के वार्ताकारों ने सोमवार को एक और दौर की वार्ता की. यूक्रेन के राष्ट्रपति के सलाहकार मिखाइलो पोदोल्याक ने कहा है कि रूस के साथ शांति वार्ता आज खत्म हुई, लेकिन मंगलवार को यह फिर शुरू होगी. बेलारूस की सीमा पर तीन बार वार्ता विफल होने के बाद दोनों देशों ने 10 मार्च को पहली बार वीडियो लिंक के जरिये बातचीत की थी.

यूक्रेन के लोगों के लिए युद्ध ‘किसी बुरे सपने से कम’ नहीं
इस बीच, रेडक्रॉस ने कहा कि यूक्रेनवासियों के लिए रूस युद्ध ‘दु:स्वप्न से कम’ नहीं है. रेडक्रॉस के एक शीर्ष अधिकारी ने सोमवार को कहा कि यूक्रेन में वर्तमान में युद्ध से घिरे हुए शहरों में रह रहे लोग अथाह संकट का सामना कर रहे हैं और अधिकारी ने नागरिकों को निकलने एवं मानवीय सहायता पहुंचाने के लिए अग्रिम मोर्चो पर सुरक्षित मार्ग की अनुमति देने का आह्वान किया.

कीव पर कब्जे की कोशिश में रूसी सेना
पोलैंड की सीमा के निकट एक सैन्य ठिकाने पर रूस द्वारा किए गए हवाई हमले से लड़ाई के उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) तक पहुंचने की बढ़ती आशंका के बीच रूसी सेना यूक्रेन की राजधानी कीव पर कब्जा करने के प्रयास में वहां भारी गोलाबारी कर रही है. यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कहा, “हर कोई खबर का इंतजार कर रहा है.”

देश भर में हो रहे हैं रूस के हवाई हमले
दक्षिणी शहर माइकोलेव और उत्तरी शहर चेर्निहाइव समेत देश भर में हवाई हमले होने की खबर है. अधिकतर शहरों में बिजली नहीं आ रही ऐसे में घरों और इमारतों को गर्म रखने वाली प्रणाली भी ध्वस्त हो गई है. रूसी कब्जे वाले काला सागर बंदरगाह शहर खेरसान के आसपास भी रात भर विस्फोट हुए. पूर्वी शहर खारकीव में, दमकलकर्मियों ने चार मंजिला आवासीय भवन में लगी आग पर बमुश्किल काबू पाया.

Tags: India, Russia, Ukraine, United nations

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें