होम /न्यूज /राष्ट्र /गिरफ्तार ISIS आतंकी की खुफिया जानकारी भारत के साथ साझा करेगा रूस, नूपुर शर्मा थीं टारगेट

गिरफ्तार ISIS आतंकी की खुफिया जानकारी भारत के साथ साझा करेगा रूस, नूपुर शर्मा थीं टारगेट

ISIS आतंकवादी जो पैगंबर पर आपत्तिजनक टिप्पणी के लिए निलंबित भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा आत्मघाती हमले की साजिश रच रहा था. (फोटो PTI)

ISIS आतंकवादी जो पैगंबर पर आपत्तिजनक टिप्पणी के लिए निलंबित भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा आत्मघाती हमले की साजिश रच रहा था. (फोटो PTI)

रूस ने इस्लामिक स्टेट (IS) के एक आतंकवादी को हिरासत में लिए जाने के बाद आतंकवाद से संबंधित मामलों पर भारत को पूर्ण सहयो ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

रूस ने आश्वासन दिया है कि आतंकवादी से संबंधित भारत से खुफिया जानकारी साझा करेगा.
सूत्रों ने News18 को बताया कि 1992 में पैदा हुए आजमोव को ISIS ने तुर्की में भर्ती किया था.
आजमोव को ISIS ने तुर्की में भर्ती किया था.

नई दिल्ली. रूस ने इस्लामिक स्टेट (IS) के एक आतंकवादी को हिरासत में लिए जाने के बाद आतंकवाद से संबंधित मामलों पर भारत को पूर्ण सहयोग और खुफिया जानकारी साझा करने का आश्वासन दिया है. आतंकवादी ने पैगंबर मोहम्मद पर आपत्तिजनक टिप्पणियों के लिए निलंबित भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा पर जानलेवा हमला करने के लिए विशेष प्रशिक्षण लिया था. सूत्रों ने News18 को बताया कि सेंट्रल एशियाई देश से ताल्लुक रखने वाला आजमोव के रूप में पहचाने जाने वाले आतंकवादी को हिरासत में लिए जाने के तुरंत बाद मास्को में भारत के सुरक्षा समूह के एक प्रतिनिधिमंडल को जानकारी दी गई.

सूत्रों ने News18 को बताया कि 1992 में पैदा हुए आजमोव को ISIS ने तुर्की में भर्ती किया था. जहां उसने प्रशिक्षण लिया था और उसे भारतीय वीजा लेने के लिए रूस भेजा गया था. सूत्रों ने कहा कि नई दिल्ली पहुंचने पर उसे स्थानीय सहायता का आश्वासन दिया गया.

पूछताछ के दौरान आजमोव ने कथित तौर पर खुलासा किया कि वह कट्टरपंथी समूह में ऑनलाइन शामिल हुआ था और आईएसआईएस (ISIS) के किसी भी नेता से नहीं मिला था. सूत्रों ने कहा कि उसने कहा कि उसे ऑपरेशन के दूसरे चरण के तहत रूस भेजा गया था.

रूस की फेडरल सिक्योरिटी सर्विस (एफएसबी) के अनुसार आजमोव को इस्लामिक स्टेट के सरगनाओं में से एक द्वारा अप्रैल और जून 2022 के बीच तुर्की में रहते हुए आत्मघाती हमलावर के रूप में भर्ती किया गया था.

खुद को उड़ाकर नूपुर शर्मा की हत्या करने की बनाई थी योजना
फेडरल सिक्योरिटी सर्विस ने इस्लामिक स्टेट अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी संगठन के एक सदस्य की पहचान की है और उसे पकड़ा है. एफएसबी ने कहा कि आजमोव एक मध्य एशियाई देश का मूल निवासी है, जिसने खुद को उड़ाकर भारत की सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) की निलंबित नेता नूपुर शर्मा की हत्या करने की योजना बनाई थी.

फेडरल सिक्योरिटी सर्विस के पब्लिक रिलेशन सेंटर (सीपीआर) ने कहा कि आतंकवादी अपना संदेश टेलीग्राम मैसेंजर के माध्यम से करता था और इस्तांबुल में एक आईएस प्रतिनिधि के साथ व्यक्तिगत बैठक भी इसी के माध्यम से आयोजित करता था. रिपोर्ट में एफएसबी ने बताया कि आत्मघाती हमलावर ने आईएसआईएस के ‘अमीर’ (प्रमुख) के प्रति निष्ठा की शपथ ली, जिसके बाद उसे रूस जाने, आवश्यक दस्तावेज तैयार करने और हमले को अंजाम देने के लिए भारत जाने का निर्देश दिया गया.

भारत में मिलने वाला था हमला करने का सामान
सोमवार को सीपीआर द्वारा जारी पूछताछ के एक वीडियो में आतंकवादी जिसका चेहरा धुंधला था ने कहा कि उसने अप्रैल 2022 में आईएस अमीर के प्रति निष्ठा की शपथ ली और विशेष प्रशिक्षण लिया. जिसके बाद उसने रूस के लिए फ्लाइट ली, जहां से उसे भारत यात्रा करनी थी. उसने टूटी-फूटी रूसी भाषा में कहा, ‘मुझे वहां (भारत में) आईएस के इशारे पर पैगंबर मुहम्मद का अपमान करने के लिए आतंकवादी हमला करने के लिए चीजें दी जानी थीं.’

गौरतलब है कि भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा को निलंबित कर दिया गया था और पार्टी के दिल्ली मीडिया प्रमुख नवीन कुमार जिंदल को निष्कासित कर दिया गया था. क्योंकि पैगंबर के खिलाफ उनकी विवादास्पद टिप्पणी के बाद इस साल की शुरुआत में मुस्लिम देशों में विरोध प्रदर्शन हुआ था.

खतरनाक आतंकी समूह आईएसआईएस और उसके सभी सहयोगी संगठन जो इराक और सीरिया में बर्बर हमलों और हत्याओं की एक श्रृंखला के लिए जिम्मेदार हैं. भारत में गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत प्रतिबंधित कर दिया गया है. गृह मंत्रालय ने आतंकवादी समूह पर प्रतिबंध लगाते वक्त कहा था कि भारत से आतंकवादी संगठनों में युवाओं की भर्ती और उनका कट्टरता देश के लिए गंभीर चिंता का विषय है. खासकर जब ऐसे युवा भारत लौटते हैं तो राष्ट्रीय सुरक्षा पर अत्यधिक खतरा होता है.

पिछले साल मंत्रालय द्वारा जारी एक नोटिफिकेशन में कहा गया कि इस्लामिक स्टेट/इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड लेवेंट/इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया/दाएश और इसके सभी रूपों को यूएपीए के तहत भारत में गैरकानूनी घोषित किया गया है.

Tags: India, ISIS, ISIS terrorists, Russia

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें