Home /News /nation /

PM मोदी ने गले मिलकर किया पुतिन का स्वागत, US ने S-400 डील को लेकर चेताया

PM मोदी ने गले मिलकर किया पुतिन का स्वागत, US ने S-400 डील को लेकर चेताया

व्लादिमीर पुतिन से गले मिलते पीएम मोदी

व्लादिमीर पुतिन से गले मिलते पीएम मोदी

व्लादिमीर पुतिन और पीएम मोदी के बीच शिखर बैठक के दौरान ईरान से कच्चे तेल के आयात पर अमेरिकी प्रतिबंधों सहित अहम क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर भी विचार-विमर्श करने की संभावना है.

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ वार्षिक द्विपक्षीय शिखर बैठक के लिए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन दो दिवसीय भारत यात्रा पर गुरुवार को यहां पहुंचे. पुतिन के साथ एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल भी आया है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उनकी अगवानी की.

    एयरपोर्ट से निकलकर रूसी राष्ट्रपति पुतिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने पहुंचे, जहां भारतीय प्रधानमंत्री ने गले मिलकर उनका गर्मजोशी से स्वागत किया. इसके बाद दोनों राष्ट्राध्यक्षों ने साथ डिनर किया.

    प्रधानमंत्री मोदी ने रूसी और अंग्रेजी भाषाओं में ट्वीट किया, 'भारत में आपका स्वागत है राष्ट्रपति पुतिन. हमारी बातचीत को लेकर उत्सुक हूं, इससे भारत-रूस संबंध और मजबूत होंगे.'



    दरअसल प्रधानमंत्री मोदी ने रूसी राष्ट्रपति के स्वागत में अपने सरकारी आवास पर डिनर का आयोजन किया. इस दौरान दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय सहयोग और रणनीतिक मुद्दों सहित अन्य ज्वलनशील मुद्दों पर चर्चा हुई.

    बता दें कि दिल्ली में शुक्रवार को 19वां भारत-रूस वार्षिक द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन होगा. रूसी रक्षा कंपनियों के खिलाफ अमेरिकी प्रतिबंधों के मद्देनजर मोदी और पुतिन के इसमें द्विपक्षीय रक्षा सहयोग की समीक्षा करने की उम्मीद है. इस दौरान दोनों नेताओं के बीच ईरान से कच्चे तेल के आयात पर अमेरिकी प्रतिबंधों सहित प्रमुख क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर भी विचार-विमर्श होने की संभावना है.

    पुतिन की इस यात्रा के दौरान उनका जोर ‘एस-400 ट्रायअंफ’ मिसाइल प्रणाली समझौते पर होगा. क्रेमलिन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को कहा था कि इस यात्रा की खास बात एस-400 वायु रक्षा प्रणाली की आपूर्ति के लिए समझौते पर दस्तखत है और यह करार पांच अरब डॉलर का होगा.



    19वें भारत-रूस शिखर सम्मेलन के दौरान दोनों नेता रूसी रक्षा कंपनियों पर अमेरिकी प्रतिबंध की पृष्टभूमि में द्विपक्षीय रक्षा संबंधों की भी समीक्षा कर सकते हैं. पुतिन की भारत यात्रा के दौरान मुख्य जोर एस-400 वायु प्रतिरक्षा प्रणाली सौदे के समझौते पर केंद्रित रहेगा. रूस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को कहा था कि इस यात्रा की मुख्य विशेषता एस-400 वायु रक्षा प्रणाली की आपूर्ति के लिए समझौते पर दस्तखत करना होगा और यह करार पांच अरब डॉलर की राशि से ज्यादा का होगा.

    ये भी पढ़ें- भारत को रूस के साथ S-400 डील से क्या घाटा होगा?

    उधर अमेरिका ने अपने सहयोगी देशों को रूस के साथ किसी तरह के महत्वपूर्ण खरीद-फरोख्त के समझौते की दिशा में बढ़ने से आगाह किया है और संकेत दिया है कि ऐसे मामले में वह प्रतिबंधात्मक कार्रवाई कर सकता है.

    अमेरिका की यह चेतावनी रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन की भारत यात्रा से ठीक पहले आई है, जिसमें दोनों देशों के बीच हथियार प्रणालियों का बड़ा समझौता होने की संभावनाएं जताई जा रही हैं.

    अमेरिका का कहना है कि रूस के साथ एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम खरीदने के लिए किया जाने वाला समझौता रूस के साथ एक 'महत्वपूर्ण' व्यापार समझौता माना जाएगा. अमेरिकी प्रतिबंधों का सामना कर रहे रूस के साथ किसी देश पर दंडनीय प्रतिबंध लगाने के लिए काफी है.

     

    (एजेंसी इनपुट के साथ)

    Tags: Defence Ties, Ministry of External Affairs, Pm narendra modi, Russia, Sushma swaraj, Vladimir Putin

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर