रूस की कोरोना वैक्सीन 'स्पुतनिक V' को भारत में आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मिली मंजूरी-सूत्र

रूसी वैक्सीन को 2 से 8 डिग्री के तापमान पर स्टोर किया जा सकता है, जोकि भारतीय मौसम के बेहद अनुकूल है. (फाइल फोटो)

रूसी वैक्सीन को 2 से 8 डिग्री के तापमान पर स्टोर किया जा सकता है, जोकि भारतीय मौसम के बेहद अनुकूल है. (फाइल फोटो)

देश में कोविशील्ड और कोवैक्सीन का इस्तेमाल पहले से ही हो रहा है. अब स्पुतनिक V को मंजूरी मिलने के बाद इस महामारी से निपटने के लिए डॉक्टरों के पास एक और हथियार आ गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 13, 2021, 12:38 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. रूस की कोरोना वैक्सीन 'स्पुतनिक V' (Sputnik V) को एक्सपर्ट कमिटी ने आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है. इसके साथ ही कोरोना से निपटने के लिए देश को तीसरी वैक्सीन मिल गई है. बता दें कि देश में कोविशील्ड और कोवैक्सीन का इस्तेमाल पहले से ही हो रहा है. अब स्पुतनिक V को मंजूरी मिलने के बाद इस महामारी से निपटने के लिए डॉक्टरों के पास एक और हथियार आ गया है. गौरतलब है कि सबसे पहले रूस ने ही कोरोना वैक्सीन बनाने का दावा किया था.

बता दें इससे पहले एक रिपोर्ट में यह बात सामने आई थी कि भारत में अक्टूबर तक पांच वैक्सीन को मंजूरी मिल सकती है. रिपोर्ट के मुताबिक यह वैक्सीन डॉ रेड्डीज़ के सहयोग से तैयार हो रही स्पुतनिक V, बायोलॉजिकल ई के सहयोग से बन रही जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन, सीरम इंडिया के सहयोग से तैयार की जा रही नोवावैक्स वैक्सीन, जायडस कैडिला वैक्सीन और भारत बायोटेक की इंट्रानसल वैक्सीन हैं. ऐसे में अब स्पुतनिक V को एक्सपर्ट्स की मंजूरी मिल जाने के बाद भारत का टीकाकरण अभियान तेजी से आगे बढ़ सकेगा.

Youtube Video


ये भी पढ़ें- Google Phone ऐप का नया फीचर! अपने आप रिकॉर्ड हो जाएगी अनजान नंबर से आई Call
बता दें वैक्सीन निर्माण के लिए रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) और हैदराबाद स्थित विरचो बायोटेक ने 20 करोड़ खुराक का उत्पादन करने के लिए एक समझौता किया है. स्पुतनिक V भारत को वैक्सीन की 8.5 करोड़ डोज़ मुहैया कराएगा जिससे कि भारत में कोविड-19 से लड़ाई को बड़े स्तर पर बढ़ावा मिलेगा.

देश में चार दिन का टीका उत्सव

गौरतलब है कि देश में रविवार 11 अप्रैल से ‘टीका उत्सव’ की शुरुआत हुई है. इसके पहले दिन रविवार शाम तक 27 लाख से ज्यादा कोविड-19 रोधी टीके की खुराक दी गई हैं. इसके साथ ही देश में अब तक टीके की 10,43,65,035 खुराक दी जा चुकी है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी.



देश में 11-14 अप्रैल के बीच चल रहे कोविड-19 टीकाकरण अभियान को ‘टीका उत्सव’ नाम दिया गया है.

कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल में मुख्यमंत्रियों के साथ वार्ता में चार दिवसीय ‘टीका उत्सव’ का प्रस्ताव दिया था जिसकी शुरुआत ज्योतिबा फुले की जयंती से शुरू होकर बी आर आंबेडकर की जयंती तक चलनी है.

ये भी पढ़ें- बंगाल में आधे चुनाव के बाद कल राहुल गांधी की एंट्री, क्या काम करेगा BJP का गेम प्लान?

मंत्रालय ने बताया कि देशव्यापी टीका उत्सव अभियान के पहले दिन कई कार्यस्थल टीकाकरण केंद्रों का संचालन हुआ. रविवार होने की वजह से इस तरह के ज्यादातर केंद्रों का संचालन निजी कार्यस्थलों पर हुआ.



मंत्रालय ने बताया, ‘‘औसत तौर पर किसी भी दिन देश में 45,000 टीकाकरण केंद्रों का संचालन हो रहा है. लेकिन आज 63,800 केंद्रों का संचालन हुआ और इस तरह से औसत तौर पर 18,800 केंद्रों की वृद्धि हुई. वहीं आम तौर पर रविवार को टीके की खुराक देने की संख्या कम ( करीब 16 लाख) होती है. लेकिन टीका उत्सव के पहले दिन शाम आठ बजे तक आज 27 लाख से ज्यादा खुराक दी गई.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज