होम /न्यूज /राष्ट्र /Rythu Bandhu स्कीम के तहत नलगोंडा जिले में बीमित होंगे 16,000 नए किसान

Rythu Bandhu स्कीम के तहत नलगोंडा जिले में बीमित होंगे 16,000 नए किसान

बजट 2022-2023 (Budget 2022-23)

बजट 2022-2023 (Budget 2022-23)

Rythu Bandhu Yojana: तेलंगाना के नलगोंडा जिले में रायतू बंधु के लाभार्थियों की संख्या सबसे अधिक है. साल 2020 के खरीफ सी ...अधिक पढ़ें

    हैदराबाद. तेलंगाना सरकार (Government of Telangana) की रायतू बंधु स्कीम (Rythu Bandhu Scheme) के तहत बीमित 4,76,727 किसानों के अलावा, 16,419 किसानों को नलगोंडा जिले में यासंगी सीजन (Yasangi Season in Nalgonda District) के लिए 28 दिसंबर से योजना का लाभ मिलने जा रहा है. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, जिले में साल 2020 के खरीफ  सीजन में 4,55.392 के मुकाबले रायतू बंधु द्वारा कवर किए गए किसानों की कुल संख्या यासांगी (रबी सीजन) में 4,93,146 तक पहुंच जाएगी. रायतू बंधु का लाभ पाने वाले किसान कई कारणों से जिले में सीजन के हिसाब से फसल का सीजन बढ़ा रहे हैं. रायतू बंधु के तहत अतिरिक्त 16,419 किसानों को कवर करने से इस यासंगी सीजन से प्रति वर्ष 7 करोड़ रुपये से अधिक का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा.

    राज्य में नलगोंडा जिले में रायतू बंधु के लाभार्थियों की संख्या सबसे अधिक है. साल 2020 के खरीफ सीजन के लिए जिले के 4,55,392 किसानों के बैंक खातों में 592.20 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए गए हैं, जबकि रायतू बंधु 2020-21 के यासंगी में 4,63,928 किसानों के खातों में 596.16 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए गए हैं.

    रायतू बंधु योजना के लाभार्थियों की सूची में लगभग 10,000 किसानों को जोड़ा
    इसी तरह रायतू बंधु की 596.47 करोड़ रुपये की राशि खरीफ-2021 के लिए 4,76,727 किसानों को दी गई. यासंगी सीजन 2021-2022 के लिए जिले के 4,93,146 किसानों के खातों में 616.21 करोड़ रुपये जमा किए जाएंगे. जिले में रबी और खरीफ मौसम के लिए रायतू बंधु योजना के लाभार्थियों की सूची में लगभग 10,000 किसानों को जोड़ा गया है. यासंगी के लिए कोई कार्य योजना नहीं  है.

    एक्शन प्लान के आधार पर जिलों को उर्वरक और बीज की आपूर्ति की जाएगी. राज्य से उबले चावल की खरीद नहीं करने के सरकार के निर्णय के मद्देनजर कृषि विभाग के अधिकारियों को किसानों के फसल पैटर्न के बारे में स्पष्ट जानकारी नहीं थी. इसलिए, अधिकारियों का मानना ​​है कि यासंगी के लिए कोई कार्य योजना नहीं  रही होगी.

    Tags: Farmer Laws, Farmers, Telangana

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें