नई सरकार में पहली बार पाकिस्तान को डिनर का मौका, क्या शुरू होगी बात

इसी सप्ताह पीएम मोदी ने इमरान खान को चिट्ठी लिखी थी. इसमें भारत की ओर से सीधा संदेश दिया गया था कि दोनों देशों के बीच संबंध तभी सुधर सकते हैं, जब पाकिस्तान आतंकवाद पर कोई ठोस कार्रवाई करके दिखाए.

News18Hindi
Updated: June 21, 2019, 1:44 PM IST
नई सरकार में पहली बार पाकिस्तान को डिनर का मौका, क्या शुरू होगी बात
हाल ही में पीएम मोदी ने इमरान को चिट्ठी लिखी थी.
News18Hindi
Updated: June 21, 2019, 1:44 PM IST
नरेंद्र मोदी सरकार की दूसरी पारी में पहली बार ऐसा मौका आया है जब किसी पाकिस्तानी प्रतिनिधि को किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया है. असल में विदेश मंत्री एस जयशंकर शनिवार शाम एक पांच सितारा होटल में ‌डिनर पार्टी आयोजित करने जा रहे हैं. इसमें दिल्ली में मौजूद सभी दूतावासों में रहने वाले राजदूतों को आमंत्रित किया गया है. इसमें पाकिस्तानी राजदूत को आमंत्रित किए जाने की भी पुष्टि हो गई है्.

सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार विदेश मंत्री की यह डिनर पार्टी दिल्ली में आयोजित की जाएगी. इसमें पाकिस्तानी दूतावास को शामिल होने लिए भी न्योता भेजा गया है. इतना ही नहीं यह भी खबरें आ रही हैं कि आमंत्रण पाने के बाद पाकिस्तानी प्रतिनिधि आने की तैयारी कर भी चुके हैं. इस ड‌िनर पार्टी में पाक के उप-उच्चायुक्त शामिल हो सकते हैं.

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने पाकिस्तान के पीएम इमरान खान के बधाई संदेश के जवाब में एक कड़ा संदेश लिखकर भेजा था. इसी सप्ताह पीएम मोदी ने इमरान खान को चिट्ठी लिखी थी. इसमें भारत की ओर से सीधा संदेश दिया गया था कि दोनों देशों के बीच संबंध तभी सुधर सकते हैं, जब पाकिस्तान आतंकवाद पर कोई ठोस कार्रवाई करके दिखाए.

pakistan cricket team, icc cricket world cup 2019, kamran akmal, india pakistan world cup match, imran khan, पाकिस्‍तान क्रिकेट टीम, कामरान अकमल इमरान खान
पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान.


लोकसभा चुनाव जीतने पर पाकिस्तानी पीएम ने दी थी बधाई
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और विदेश मंत्री एफएम कुरैशी ने लोकसभा चुनाव जीतने पर पीएम नरेंद्र मोदी को बधाई संदेश दिया था. उसके बाद 8 जून को इमरान खान ने एक पत्र लिखकर भारत से बीच बातचीत का आग्रह भी किया था. इमरान ने चिट्ठी में लिखा था कि कश्मीर मुद्दे सहित सभी सुलह योग्य समस्याओं के समाधान के लिए नई दिल्ली के साथ इस्लामाबाद वार्ता करना चाहता है.

भारत बात करने को तैयार नहीं
Loading...

भारत का कहना है कि जब तक पाकिस्तान की ओर से आतंकवाद पर कार्रवाई नहीं की जाती, तब तक बातचीत संभव नहीं है. हालांकि इमरान को भेजे गए पत्र में आंतक मुक्त माहौल का भी जिक्र है, इस पर दोनों देशों के बीच बातचीत कब शुरू होगी इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है. पत्र में कहा कि गया कि भारत अपने पड़ोसी देशों के बीच संबंध बेहतर चाहता है. विकास के लिए शांति स्थिरता जरूरी है.

एससीओ में हुई दोनों नेताओं की मुलाकात पर नहीं हुई बात
पाकिस्तान भारत से लगातार बातचीत की पेशकश कर रहा है. लेकिन भारत का स्टैंड साफ है कि आंतकवाद और बातचीत एक साथ नहीं हो सकती. इसकी एक बानगी पिछले दिनों किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में आयोजित शंघाई कॉरपोरेशन ऑर्गनाइजेशन (एससीओ) समिट में पीएम मोदी और इमरान खान की मुलाकात हुई थी. दोनों नेताओं ने एक-दूसरे की अभिवादन किया था. हालांकि अभिवादन सामान्य प्रकृति का था और यह उस वक्त हुआ, जब दोनों नेता लाउंज में थे.लेकिन दौरान कोई बात चीत नहीं हुई.

यह भी पढ़ेंः इराक ने की अमेरिका और ईरान के बीच मध्यस्थता की पेशकश
First published: June 21, 2019, 1:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...