राज्यसभा में बोले एस जयशंकर- कुलभूषण जाधव को रिहा करे पाकिस्तान

विदेश मंत्री ने कहा कि कोर्ट ने पाया कि पाकिस्तान ने हर अंतरर्राष्ट्रीय नियम तोड़ा और जाधव मामले में वियना संधि का हनन हुआ है.

News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 1:15 PM IST
News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 1:15 PM IST
भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने गुरुवार को इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ)के कुलभूषण यादव पर दिए फैसले को लेकर राज्यसभा में बयान दिया. एस जयशंकर ने कहा कि आईसीजे ने 17 जुलाई को 15-1 से भारत के हित में फैसला सुनाया.

विदेश मंत्री ने कहा कि कोर्ट ने पाया कि पाकिस्तान ने हर अंतरर्राष्ट्रीय नियम तोड़ा और जाधव मामले में वियना संधि का हनन हुआ है. उन्होंने कहा कि बुधवार को आया फैसला केवल भारत के लिए ही अहम नहीं है, बल्कि उन सभी के लिए अहम है जो कानून के राज में विश्वास करते हैं. एस जयशंकर ने कहा कि कुलभूषण जाधव पर लगाए गए सभी आरोप गलत हैं. इसके साथ ही उन्होंने फिर एक बार पाकिस्तान से कुलभूषण जाधव को छोड़ने का आग्रह किया.

बता दें कि नीदरलैंड के हेग में आईसीजे ने बुधवार को जाधव की फांसी की सजा पर रोक को बरकरार रखा. इसी के साथ कोर्ट ने पाकिस्तान से सैन्य अदालत के इस फैसले पर पुनर्विचार करने के लिए भी कहा. आईसीजे ने मामले में पाकिस्तान की तमाम आपत्तियों को खारिज कर दिया. अदालत ने पाकिस्तान के इस तर्क को भी खारिज कर दिया कि भारत ने जाधव की वास्तविक नागरिकता की जानकारी नहीं दी है.

पाकिस्तान को मौत की सजा पर करना होगा पुनर्विचार

अदालत ने कहा कि यह साफ है कि जाधव भारतीय नागरिक हैं और पाकिस्तान ने भी माना है कि जाधव भारतीय नागरिक ही हैं. पाकिस्तान ने जाधव को  मार्च 2016 में पकड़ा था और अप्रैल 2017 में पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने उन्हें भारतीय जासूस और आतंकवादी बताकर मौत की सजा सुनाई थी. आईसीजे ने 15-1 के बहुमत से कहा कि जाधव की मौत की सजा पर रोक बरकरार रहेगी और पाकिस्तान की सैन्य अदालत में उन्हें दोषी ठहराने और उन्हें दी गई सजा पर पुनर्विचार करने की जरूरत है.

ये भी पढ़ें: भारत के पक्ष में ICJ का फैसला, कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 18, 2019, 11:22 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...