Home /News /nation /

'अफगान जानते हैं कि कौन बेहतर दोस्त थे': आतंक को पनाह देने के लिए पाकिस्तान पर बरसे जयशंकर

'अफगान जानते हैं कि कौन बेहतर दोस्त थे': आतंक को पनाह देने के लिए पाकिस्तान पर बरसे जयशंकर

विदेश मंत्री एस जयशंकर (External Affairs Minister S Jaishankar)

विदेश मंत्री एस जयशंकर (External Affairs Minister S Jaishankar)

S Jaishankar Slams Pakistan: विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा, "अफगान लोग जानते हैं कि भारत ने उनके लिए क्या किया है, हम किस तरह के दोस्त हैं,"

    नई दिल्ली. केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि अफगानिस्तान के लोग अच्छी तरह से जानते हैं कि भारत और पाकिस्तान के बीच अंतर कैसे बनाया जाए. उन्हें यह बताने की जरूरत नहीं है कि पिछले एक दशक में भारत द्वारा युद्धग्रस्त राष्ट्र को कितनी मदद दी गई है.

    जयशंकर ने गुरुवार को डीडी न्यूज कॉन्क्लेव फिनाले में कहा, “अफगान लोग जानते हैं कि भारत ने उनके लिए क्या किया है, हम किस तरह के दोस्त हैं, मुझे यकीन है कि उसी अवधि में पाकिस्तान ने उनके साथ जो किया है, उसी के आधार पर उन्होंने तुलना की है.”

    68 साल बाद एअर इंडिया की ‘घर वापसी’, अब रतन टाटा संभालेंगे कमान, सरकार ने लगाई मुहर

    तालिबान के सरकार की बागडोर संभालने से पहले भारत और अफगानिस्तान के बीच गहरे व्यापार, सांस्कृतिक और वाणिज्यिक संबंध थे. भारत और अफगानिस्तान के बीच 2019-20 के लिए कुल द्विपक्षीय व्यापार 1.5 अरब डॉलर का था.

    ब्रिटेन से आने वाले नागरिकों के लिए भारत जल्द जारी कर सकता है नए दिशा-निर्देश : सूत्र

    इतना ही नहीं, भारत ने 2017 में चाबहार बंदरगाह के संचालन में भी मदद की और उसी साल भारत-अफगानिस्तान फाउंडेशन (IAF) की स्थापना की, जो दोनों देशों के बीच आर्थिक, वैज्ञानिक, शैक्षिक, तकनीकी और सांस्कृतिक सहयोग को बढ़ाता है.

    क्या वरुण गांधी का बीजेपी से हो रहा है मोहभंग? क्या गांधी परिवार हो रहा एकजुट?

    जयशंकर ने कहा कि भारत ने अफगानिस्तान के लोगों के लिए जो किया है, उसके आधार पर वे यह समझने की बेहतर स्थिति में हैं कि भारत और पाकिस्तान में कौन उनका बेहतर दोस्त रहा है. जयशंकर ने कहा, “अंतर साफ है.”

    जयशंकर ने पाकिस्तान की भी आलोचना की और कहा कि हर देश अपने पड़ोसियों के साथ अच्छे संबंध रखना चाहता है, लेकिन यह तभी हो सकता है जब सामने वाला नियम-आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था का सम्मान करता हो. उन्होंने कहा, “हर कोई अपने पड़ोसियों से दोस्ती करना चाहता है, लेकिन आप उन शर्तों पर दोस्त बनना चाहते हैं जिन्हें एक सभ्य दुनिया स्वीकार करेगी. और निश्चित तौर पर आतंकवाद उन शर्तों में से एक नहीं है.”

    विदेश मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद का इस्तेमाल राज्य के एक हथियार के रूप में करता है जो बिल्कुल स्वीकार्य नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि संपर्क, व्यापार, द्विपक्षीय सहयोग और विकास को बढ़ावा देने के लिए पड़ोसी मौजूद हैं. उन्होंने आगे कहा, “इस पड़ोसी के साथ ऐसा कुछ नहीं हुआ है.”

    Tags: Afghanistan, Pakistan, S Jaishankar, Taliban

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर