G7 वार्ता में ब्रिटेन पहुंचे एस जयशंकर कोविड संक्रमितों के संपर्क में आए, ट्वीट कर दी जानकारी

चार दिवसीय कार्यक्रम में शामिल होने के लिए जयशंकर बीते सोमवार को रवाना हुए थे. (फाइल फोटो)

चार दिवसीय कार्यक्रम में शामिल होने के लिए जयशंकर बीते सोमवार को रवाना हुए थे. (फाइल फोटो)

G7 Summit: चार दिवसीय कार्यक्रम के दौरान ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमिनिक राब (Dominic Raab) और जयशंकर के बीच गुरुवार शाम मुलाकात होनी थी. हालांकि, अब यह वर्चुअल तौर पर पूरी होगी.

  • Share this:

लंदन. G7 वार्ता में शामिल होने के लिए ब्रिटेन पहुंचे विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) ने कोविड संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आने की आशंका जताई है. उन्होंने इस बात की जानकारी ट्वीट कर दी है. विदेश मंत्री ने अपने आगे के कार्यक्रमों को वर्चुअल तौर पर पूरे करने का फैसला किया है. चार दिवसीय कार्यक्रम में शामिल होने के लिए जयशंकर बीते सोमवार को रवाना हुए थे.

विदेश मंत्री ने ट्वीट कर कहा है कि वो संभावित कोरोना संक्रमितों के संपर्क में आए हैं. उन्होंने लिखा, 'कल शाम को संभावित कोविड पॉजिटिव मामलों के संपर्क में आने की जानकारी मिली थी. सावधानी के तौर पर दूसरों के लिए भी विचार करते हुए, मैंने अपने काम वर्चुअल मोड में करने का फैसला किया है.' उन्होंने बताया कि आज की मीटिंग पर वर्चुअल तरीके से ही की जाएगी.

यह भी पढ़ें: ऐसा दिखता है भारत में दूसरी लहरों के लिए जिम्मेदार कोरोना का नया रूप, वैज्ञानिकों ने जारी की तस्वीर

Youtube Video

चार दिवसीय कार्यक्रम के दौरान ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमिनिक राब और जयशंकर के बीच गुरुवार शाम मुलाकात होनी थी. हालांकि, अब यह वर्चुअल तौर पर पूरी होगी. कुछ रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि मंत्री के साथ ब्रिटेन गए एक छोटे प्रतिनिधिमंडल के दो सदस्यों की कोविड जांच पॉजिटिव आई है. खास बात है कि महामारी शुरू होने के बाद सात देशों के समूह की पहली बार व्यक्तिगत तौर पर मीटिंग होने जा रही थी.


इस समूह में कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, अमेरिका और ब्रिटेन के साथ-साथ यूरोपियन संघ भी शामिल हैं. G7 मंत्रियों की यह पहली बैठक कोविड सुरक्षित जगह पर आयोजित होनी थी. सोमवार को ब्रिटेन पहुंचने के बाद विदेश मंत्री ने अमेरिकी समक्ष एंटनी ब्लिंकन से चर्चा की थी. वार्ता का एक बड़ा हिस्सा वैश्विक स्तर पर महामारी के मुद्दे पर केंद्रित रहा. इसके अलावा वैक्सीन उत्पादन औऱ सप्लाई चेन को लेकर भी चर्चा हुई.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज