होम /न्यूज /राष्ट्र /अशोक गहलोत के बाद सोनिया गांधी से मुलाकात के लिए 10 जनपथ पहुंचे सचिन पायलट

अशोक गहलोत के बाद सोनिया गांधी से मुलाकात के लिए 10 जनपथ पहुंचे सचिन पायलट

अशोक गहलोत के बाद सचिन पायलट ने 10 जनपथ पहुंच कर सोनिया गांधी से मुलाकात की है.

अशोक गहलोत के बाद सचिन पायलट ने 10 जनपथ पहुंच कर सोनिया गांधी से मुलाकात की है.

राजस्थान (Rajasthan) के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin pilot) कांग्रेस की राज्य इकाई में संकट के बीच बृहस्पति ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

राजस्‍थान के सीएम अशोक गहलोत मिले सोनिया गांधी से
गुरुवार शाम को सचिन पायलट पहुंचे 10 जनपथ
सोनिया गांधी से मिलेंगे सचिन पायलट, रखी अपनी बात

नई दिल्ली. राजस्थान (Rajasthan)  के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin pilot) कांग्रेस की राज्य इकाई में संकट के बीच बृहस्पतिवार देर शाम पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से मुलाकात के लिए उनके आवास 10 जनपथ पहुंचे. उधर, कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी अगले एक-दो दिन में राजस्थान के मुख्यमंत्री के बारे में फैसला करेंगी. वहीं, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी आज दिन में सोनिया गांधी से मुलाक़ात की थी. उन्होंने जयपुर में कांग्रेस विधायक दल की बैठक नहीं हो पाने की घटना के लिए सोनिया से माफी मांगी. गहलोत ने यह भी कहा कि वह अब अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे

सोनिया गांधी के आवास ‘10 जनपथ’ पर उनसे मुलाकात के बाद गहलोत ने कहा कि उनके मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के बारे में फैसला सोनिया गांधी करेंगी. उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘मैं पिछले 50 वर्षों से कांग्रेस का वफादार सिपाही रहा हूं…जो घटना दो दिन पहले हुई उसने हम सबको हिलाकर रख दिया. मुझे जो दुख है वो मैं ही जान सकता हूं. पूरे देश में यह संदेश चला गया कि मैं मुख्यमंत्री बने रहना चाहता हूं इसलिए यह सब हो रहा है.’

गहलोत ने कहा, ‘हमारी परंपरा है कि एक लाइन का प्रस्ताव पारित किया जाता है. दुर्भाग्य से ऐसी स्थिति बन गई कि प्रस्ताव पारित नहीं पाया. मैं मुख्यमंत्री हूं और विधायक दल का नेता हूं, यह प्रस्ताव पारित नहीं हो पाया. इस बात का दुख मुझे हमेशा रहेगा. मैंने सोनिया जी से माफी मांगी है.’ उन्होंने कहा, ‘मैंने तय किया है कि इस माहौल के अंदर अब चुनाव नहीं लड़ूंगा. यह मेरा फैसला है.’ कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव पर राजस्थान में उत्पन्न राजनीतिक संकट की छाया पड़ी है. गत रविवार की शाम जयपुर में विधायक दल की बैठक बुलाई गई थी, लेकिन गहलोत समर्थक विधायक इसमें शामिल नहीं हुए थे.

पार्टी पर्यवेक्षकों मल्लिकार्जुन खड़गे और अजय माकन ने इसे मंगलवार को ‘घोर अनुशासनहीनता’ करार दिया था और गहलोत के करीबी तीन नेताओं के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की अनुशंसा की थी. अनुशंसा के कुछ देर बाद ही पार्टी की अनुशासनात्मक कार्रवाई समिति की ओर से इन्हें ‘कारण बताओ नोटिस’ जारी कर दिये गये.

Tags: Rajasthan Congress, Sachin pilot, Sonia Gandhi

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें