Assembly Banner 2021

सचिन वाजे मामले में बड़ा खुलासा- 5 स्टार होटल में 100 दिनों के लिए बुक था कमरा, जूलर ने दिए थे पैसे- सूत्र

मुंबई पुलिस अफसर सचिन वाजे की भूमिका की जांच हो रही है. (File pic)

मुंबई पुलिस अफसर सचिन वाजे की भूमिका की जांच हो रही है. (File pic)

Sachin Waze Case: सूत्रों ने बताया है कि सचिन वाजे ने होटल में 16 से 20 फरवरी के बीच भी रूम बुक किया था. इतना ही नहीं होटल के सीसीटीवी फुटेज (CCTV Footage) में वाजे को हाथ में 5 बैग रखे हुए भी देखा गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2021, 7:31 PM IST
  • Share this:
(अजीत मंधारे)


मुंबई. एंटीलिया के पास मिले विस्फोटक मामले में गिरफ्तार मुंबई पुलिस के एसिंस्टेंट इंस्पेक्टर सचिन वाजे (Sachin Waje) के खिलाफ नेशनल इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो (National Investigation Bureau) ने जांच तेज कर दी है. बीते सोमवार को एनआईए की टीम दक्षिण मुंबई स्थित एक फाइव स्टार होटल पहुंची थी. खुलासा हुआ है कि वाजे पहचान के रूप में यहां फर्जी आधार कार्ड (Fake Aadhar Card) दिखाकर रह रहा था. बताया जा रहा है कि होटल के बिल का भुगतान एक जूलर ने किया था. इसके अलावा भी एनआईए ने वाजे से जुड़े कई कागजातों की जांच की है.

पता चला कि सचिन वाजे मुंबई के पांच सितारा ट्राइडेंट होटल में ठहरा था. उसके बाद, वाजे ने 5 सितारा होटल में 100 दिनों के लिए कमरा बुक किया था. इस कमरे के पैसे का भुगतान एक जूलर ने किया था. प्राप्त जानकारी के अनुसार, वह झावेरी बाजार में एक बड़ा जौहरी व्यापारी है. जूलर्स ने होटल के किराए के रूप में 100 दिनों के लिए 25 लाख रुपये का भुगतान किया था.
Youtube Video




दूसरी ओर, होटल ट्राइडेंट से पता चला है कि वाजे वहां एक फर्जी आधार कार्ड दिखाकर रह रहा था. उसके पास से सुशांत सदाशिव खामकर के नाम का फर्जी आधार कार्ड जब्त किया गया है. वाजे ने होटल ट्राइडेंट में कई लोगों से मुलाकात की थी.

समाचार एजेंसी एएनआई ने एनआईए के सूत्रों के हवाले से लिखा है, बर्खास्त पुलिस अधिकारी मुंबई के पांच सितारा होटल में फर्जी आधार कार्ड दिखाकर रहा था. रिपोर्ट के अनुसार, सूत्रों ने बताया है कि वाजे ने होटल में 16 से 20 फरवरी के बीच होटल रूम बुक किया था. इतना ही नहीं होटल के सीसीटीवी फुटेज में वाजे को हाथ में 5 बैग रखे हुए भी देखा गया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पुलिस अधिकारी ने जानकारी दी है कि इन तारीखों के दौरान वाजे जांच टीम का हिस्सा था. कार्रवाई के दौरान NIA को होटल के कमरे से कुछ कागजात भी बरामद हुए हैं. हालांकि, अभी तक यह साफ नहीं है कि इन दस्तावेजों में क्या जानकारी मौजूद है. खास बात है कि वाजे का नाम सामने आने के बाद मुंबई के कई बड़े पुलिस अधिकारियों पर जांच की आंच आने की आशंका बढ़ गई थी. रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा था कि NIA जल्द ही पुलिस के अन्य अधिकारियों से भी पूछताछ कर सकती है.

यह भी पढ़ें: सचिन वाजे केस: महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने परमबीर सिंह के तबादले पर क्या कहा

समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार, महाराष्ट्र के आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) ने मंगलवार को कहा कि निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे कारोबारी मनसुख हिरन की हत्या के मामले में ‘प्रमुख आरोपी’ है और उसकी हिरासत मांगने के लिए यहां एनआईए अदालत से संपर्क किया जाएगा. एटीएस प्रमुख जयजीत सिंह ने कहा कि मामले में और भी लोग गिरफ्तार किए जा सकते हैं.

मुंबई के मशहूर बंगले एंटीलिया के बाहर स्कॉर्पियो में मिले विस्फोटक मामले में सचिन वाजे को गिरफ्तार किया गया है. बंगले के पास बीती 25 फरवरी को कार बरामद हुई थी. गाड़ी के मालिक मनसुख हिरन की कुछ दिनों बाद लाश मिली थी. हिरन की मौत के मामले में भी वाजे का नाम आया था. जिसके बाद उन्हें 25 मार्च तक के लिए NIA की कस्टडी में भेज दिया था. उस पर विस्फोटक से लदी गाड़ी को मौके तक पहुंचाने का आरोप है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज