Assembly Banner 2021

पंजाब: विधानसभा के बाहर SAD विधायकों ने सरकार का पूतला फूंका, AAP ने भी किया प्रदर्शन

शिअद और आप बजट सत्र के पहले दिन से ही सरकार के प्रति आक्रामक रुख अपनाए हुए हैं.

शिअद और आप बजट सत्र के पहले दिन से ही सरकार के प्रति आक्रामक रुख अपनाए हुए हैं.

Punjab Protest: आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक हाथों में कैप्‍टन सरकार के खिलाफ नारे लिखे पोस्‍टर लेकर विधानसभा के गेट पर पहुंचे थे. आप विधायकों का कहना था कि पंजाब में अन्य राज्यों के मुकाबले बिजली बहुत ही ज्यादा महंगी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 4, 2021, 10:50 AM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब विधानसभा के बजट सत्र (Punjab Budget Session) के तीसरे दिन की कार्यवाही के दौरान सदन में जहां विपक्ष आक्रामक दिखा वहीं विधानसभा के बाहर कई मुद्दों को लेकर शिरोमणि अकाली दल (Shiromani Akali Dal) और आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के विधायकों ने जबरदस्त विरोध प्रदर्शन किया. शिअद (SAD) के विधायकों ने विस के बाहर कर्मचारियों की मांगों को लेकर पूतला फूंका, जबकि आप विधायकों ने बिजली की महंगी दरों को सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर अपना विरोध दर्ज करवाया.

बजट सत्र के तीसरे दिन बुधवार सुबह शिरोमणि अकाली दल विधायकों ने कर्मचारियों के लिए छठे वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू करने की मांग की और कैप्टन सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. विरोध प्रदर्शन के दौरान शिअद विधायकों ने विधानसभा के गेट पर पंजाब सरकार का पूतला भी फूंका. विधायक बिक्रम सिंह मजीठिया (Bikram Singh Majithia) ने इस मौके पर कहा कि सरकार कर्मचारियों का शोषण कर रही है.

Youtube Video




उन्होंने कहा कि कई विभागों के अनुबंध पर कर्मचारियों को सरकार नियमित करने में नाकामयाब रही है. महंगाई बढ़ती जा रही है. मजीठिया ने कहा कि सरकार को कर्मचारियों को छठे वेतन के अनुरूप वेतन मिलना चहिए. इस विरोध प्रदर्शन के बाद ही शिअद विधायक सदन में हिस्सा लेने अंदर गए.
उधर दूसरी ओर आम आदमी पार्टी के विधायक हाथों में कैप्‍टन सरकार के खिलाफ नारे लिखे पोस्‍टर लेकर विधानसभा के गेट पर पहुंचे थे. आप विधायकों का कहना था कि पंजाब में अन्य राज्यों के मुकाबले बिजली बहुत ही ज्यादा महंगी है. विधायकों ने सरकार से बिजली की दरों में कटौती करने की मांग की, जिससे आम जनता को राहत मिल सके.

गौरतलब है कि शिअद और आप बजट सत्र के पहले दिन से ही सरकार के प्रति आक्रामक रुख अपनाए हुए हैं. शिअद ने जहां बजट सत्र के पहले दिन चंडीगढ़ में एक विशाल रैली कर विधानसभा को घेरने की कोशिश की थी, वहीं दूसरी ओर आप ने भी साइकल रैली निकालकर कैप्टन सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज