चुनाव से ठीक पहले केजरीवाल का ऐलान, मेट्रो-बसों में मुफ्त सफर पर सोशल मीडिया पर छिड़ी डिबेट

ऐलान करते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा, 'दिल्ली में महिलाएं असुरक्षित महसूस करती हैं. दिल्ली सरकार दिल्ली मेट्रो और डीटीसी बसों में महिलाओं को किराए से छुटकारा दिलाने के लिए नि:शुल्क यात्रा का फैसला किया है.

News18.com
Updated: June 3, 2019, 5:03 PM IST
चुनाव से ठीक पहले केजरीवाल का ऐलान, मेट्रो-बसों में मुफ्त सफर पर सोशल मीडिया पर छिड़ी डिबेट
ऐलान करते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा, दिल्ली में महिलाएं असुरक्षित महसूस करती हैं. दिल्ली सरकार दिल्ली मेट्रो और डीटीसी बसों में महिलाओं को किराए से छुटकारा दिलाने के लिए नि:शुल्क यात्रा का फैसला किया है.
News18.com
Updated: June 3, 2019, 5:03 PM IST
दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को विधानसभा चुनाव को देखते हुए बड़ा ऐलान किया है. दिल्‍ली सरकार ने महिलाओं को दिल्ली मेट्रो और डीटीसी बसों में मुफ्त यात्रा का तोहफा दिया है. इसपर सरकार ने कहा कि सार्वजनिक परिवहन को महिलाओं के लिए सुरक्षित बनाने के लिए ऐसा कदम उठाया जा रहा है. सीएम केजरीवाल ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस करके यह जानकारी दी है. आप सरकार के इस ऐलान के बाद मेट्रो और बसों में सफर करने के दौरान महिलाओं को टोकन या स्मार्ट कार्ड नहीं लेना होगा.

ऐलान करते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा, 'दिल्ली में महिलाएं असुरक्षित महसूस करती हैं. दिल्ली सरकार दिल्ली मेट्रो और डीटीसी बसों में महिलाओं को किराए से छुटकारा दिलाने के लिए नि:शुल्क यात्रा का फैसला किया है. इससे उन्हें सार्वजनिक परिवहन के इस्तेमाल के लिए प्रोत्साहन मिलेगा. महिलाओं को फ्री यात्रा देने में डीएमआरसी को होने वाले नुकसान की भरपाई दिल्ली सरकार करेगी.'

विधानसभा चुनाव से कुछ ही महीने पहले दिल्‍ली सरकार द्वारा यह ऐलान किया गया है. इससे पहले केजरीवाल ने सोशल मीडिया पर ऐसी योजना को लागू करने का संकेत दिया था. जिसके बाद से ही सोशल मीडिया पर यह बहस का मुद्दा बन गया है. सोशल मीडिया पर कई तरह के रिएक्‍शन आ रहे हैं. जबकि कुछ लोगों में तो आपस में डिबेट भी छिड़ गई.

सोशल मीडिया पर छिड़ी डिबेट

बॉलीवुड प्रोड्यूसर प्रीतीश नंदी ने इसपर लिखा, 'दिल्ली में महिलाओं को बसों और मेट्रो पर मुफ्त सवारी मिलेगी. अरविंद केजरीवाल का यह शानदार आईडिया है. क्‍या मुंबई में भी ऐसा कदम उठाया जाएगा? अगर यह कदम दिल्‍ली के साथ-साथ मुंबई में भी उठाया जाता है तब जाकर इसका कोई औचित्‍य रह जाएगा.

— प्रीतीश नंदी (@PritishNandy) June 3, 2019

महिला सशक्तिकरण के लिए आवाज उठाने वाली स्‍वाति चतुर्वेदी ने इसको लेकर आप सरकार पर आरोप लगाया. उन्‍होंने ट्वीट किया, 'दिल्‍ली की महिलाओं ने वोट देने के लिए केजरीवाल जी से मुफ्त यात्रा की मांग नहीं की थी. उन्‍होंने सुरक्षित वातावरण के लिए केजरीवाल को वोट दिया था.' प्रियंका चतुर्वेदी ने भी इनके ट्वीट का समर्थन किया.
Loading...

— प्रियंका चतुर्वेदी (@priyankac19) June 3, 2019

हालांकि इस मुद्दे को लेकर सोशल मीडिया पर बहस होने लगी. चतुर्वेदी के ट्वीट पर प्रीतीश नंदी ने रिएंक्‍शन दिया. उन्‍होंने सवाल के लहजे में ट्वीट किया, 'सहमत हूं, लेकिन एक अच्‍छे कदम को क्‍यों नहीं स्‍वीकार किया जा रहा. महिलाओं की सुरक्षा एक बहुत बड़ा मुद्दा है. इसे कानून प्रवर्तन एजेंसियों के समर्थन की जरूरत है. और जहां तक मुझे पता है, वे अरविंद केजरीवाल का साथ नहीं दे रहे हैं.'

— प्रीतीश नंदी (@PritishNandy) June 3, 2019



प्रियंका चतुर्वेदी ने इसपर तुरंत काउंटर ट्वीट किया, 'मुझे याद दिलाने में खुशी नहीं महसूस हो रही, लेकिन दिल्‍ली की एक बस में निर्भया के साथ दरिंदरी की गई थी. उस समय देश में मुफ्त यात्रा का विरोध नहीं किया गया था. लेकिन, राजधानी को महिलाओं के लिए सुरक्षित बनाने की मांग जरूर उठी थी, जिससे महिला दिन या किसी भी समय बस या मेट्रो में सुरक्षित सफर कर सकें. अपनी प्राथमिकताओं पर ध्‍यान दें.'

— प्रियंका चतुर्वेदी (@priyankac19) June 3, 2019



सोशल मीडिया पर नंदी और चतुर्वेदी केजरीवाल के ऐलान को लेकर एक दूसरे से तर्क कर रहे थे. हालांकि अन्‍य भी ऐसे कई लोग हैं जो अपनी राय रख रहे हैं.

ये भी पढ़ें: हम दिल्ली सरकार में आए तो सबको फ्री डीटीसी सेवा: मनोज तिवारी

केजरीवाल के ऐलान पर एक यूजर प्रांजल अग्रवाल ने लिखा, 'मिस्‍टर केजरीवाल आपने यह नहीं देखा कि देश ने 72 हजार रुपये को खारिज कर दिया. वे दिन चले गए हैं जब लोग मुफ्त की सवारी से प्रभावित होते थे. महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करें, मुफ्त यात्रा नहीं.

— प्रांजल अग्रवाल (@pranjal2018) June 3, 2019

एक अन्‍य यूजर एके कौशल ने लिखा, 'केजरीवाल के ऐलान से यह साबित होता है कि आप सरकार योजना और आइडिया के मामले में भी दिवालिया है. पूरी दिल्‍ली गंदगी से भरी हुई है, बारिश से पहले नालियों और सीवर के साफ करने के लिए कुछ नहीं किया जा रहा है. और वे मुफ्त की सवारी के बारे में सोच रहे हैं.

— एके कौशल (@ashokaushal) June 3, 2019

ये भी पढ़ें: दिल्ली मेट्रो कार्ड में नहीं है महिला-पुरुष पहचानने की क्षमता, कैसे लागू होगा केजरीवाल का फैसला

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 3, 2019, 5:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...